मासिक करेंट अफेयर्स

20 August 2018

यूएन के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान का निधन

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव एवं नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कोफी अन्नान का निधन हो गया. वह 80 साल के थे. कोफी अन्नान कुछ समय से बीमार थे. कोफी अन्नान को वैश्विक स्तर पर शांति प्रयासों और गरीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के लिए जाना जाता है. कोफी अन्नान यूएन के महासचिव बनने वाले पहले अश्वेत अफ्रीकी थे. कोफी अन्नान बुतरस घाली के बाद संयुक्त राष्ट्र के सातवें महासचिव के रूप में अपना योगदान दिया था. कोफी अन्नान युद्ध प्रभावित क्षेत्रों में शांति बहाल करने और प्रवासियों को फिर से बसाने के लिए वैश्विक स्तर पर होने वाले कई प्रयासों की अगुआई कर चुके थे. हाल के दिनों में वह रोहिंग्या और सीरिया के शरणार्थी संकट के समाधान के लिए काम कर रहे थे. सीरिया में संकट के समाधान के लिए उन्होंने सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद से भी मुलाकात की थी. कोफी अन्नान को उनके मानवीय कार्यों के लिए वर्ष 2001 में नोबेल शांति पुरस्कार भी मिला था.

कोफी अन्नान का जन्म 8 अप्रैल 1938 को गोल्ड कोस्ट (वर्तमान देश घाना) के कुमसी नामक शहर में हुआ था. कोफी अन्नान ने वर्ष 1954 से वर्ष 1957 तक मफिन्तिस्म स्कूल में शिक्षा ली. वे वर्ष 1957 में फोर्ड फाउंडेशन की दी छात्रावृत्ति पर अमेरिका गये थे. उन्होंने अमेरिका में वर्ष 1958 से वर्ष 1961 तक मिनेसोटा राज्य के संत पॉल शहर में मैकैलेस्टर कॉलेज में अर्थशास्त्र की पढ़ाई की और वर्ष 1961 में उन्हें स्नातक की डिग्री हासिल की. वे अंग्रेजी, फ्रेंच, क्रू, अकान की अन्य बोलियों और अन्य अफ्रीकी भाषाओं के जानकार थे. कोफी अन्नान ने वर्ष 1962 में संयुक्त राष्ट्र की संस्था विश्व स्वास्थ्य संगठन के लिए एक बजट अधिकारी के रूप में काम शुरू कर दिया था. वे विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ 1965 तक रहे.

वे वर्ष 1962 से वर्ष 1974 तक और वर्ष 1974 से वर्ष 2006 तक संयुक्त राष्ट्र में कार्यरत रहे. उन्होंने वर्ष 1965 से 1972 तक इथियोपिया की राजधानी अद्दीस अबाबा में संयुक्त राष्ट्र की इकॉनोमिक कमिशन फॉर अफ्रीका के लिए काम किया था. इसके बाद कोफी अन्नान अगस्त 1972 से मई 1974 तक जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के लिये प्रशासनिक प्रबंधन अधिकारी के तौर पर रहे. वे मई 1974 से नवंबर 1974 तक मिस्र में शांति अभियान में संयुक्त राष्ट्र द्वारा कार्यरत असैनिक कर्मचारियों के मुख्य अधिकारी (चीफ़ पर्सोनेल ऑफिसर) के पद पर कार्यरत रहे. वे वर्ष 1974 से 1976 तक घाना में पर्यटन के निदेशक के रूप में भी कार्य किए. वे वर्ष 1980 में संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी उच्चायोग के उप-निदेशक नियुक्त हुए. 1984 में वे संयुक्त राष्ट्र के बजट विभाग के अध्यक्ष के रूप में न्यूयॉर्क वापिस आये. 

उन्हें वर्ष 1987 में संयुक्त राष्ट्र के मानव संसाधन विभाग और वर्ष 1990 में बजट एवं योजना विभाग का सहायक महासचिव नियुक्त किया गया था. वे मार्च 1992 से फ़रवरी 1993 तक शांति अभियानों के सहायक महासचिव रहे थे. उन्हें मार्च 1993 में संयुक्त राष्ट्र का अवर महासचिव नियुक्त किया गया था और वे दिसंबर 1996 तक इस पद पर कार्यरत रहे. उन्होंने वर्ष 1997 में संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न संगठनों में सामंजस्य बढ़ाने के लिये संयुक्त राष्ट्र विकास समूह की स्थापना की. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में प्रशासनिक एवं वित्तीय सुधार किए, जिसमें सचिवालय का बड़ा प्रशासनिक पुनर्गठन भी शामिल था.वे 1 जनवरी 1997 से 31 दिसम्बर 2006 तक दो कार्यकालों के लिये संयुक्त राष्ट्र के महासचिव रहे. वे कोफी अन्नान फाउंडेशन के संस्थापक और अध्यक्ष थे, साथ ही नेल्सन मंडेला द्वारा स्थापित अंतरराष्ट्रीय संगठन 'द एल्डर' के अध्यक्ष थे.

No comments:

Post a Comment