मासिक करेंट अफेयर्स

06 October 2018

पृथ्वी शॉ बने टेस्ट डेब्यू पर शतक जड़ने वाले सबसे युवा भारतीय

भारत के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट डेब्यू में शतक जड़कर अपना नाम हमेशा के लिए रिकॉर्ड बुक्स में दर्ज करा लिया. राजकोट में कैरेबियाई टीम के खिलाफ 99 गेंदों में शतक पूरा करते ही पृथ्वी भारत के लिए अपने पहले टेस्ट में शतक जड़ने वाले सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज बन गए. इसके बाद भारत के लिए टेस्ट शतक बनाने वाले वह सचिन तेंदुलकर के बाद दूसरे युवा भारतीय बल्लेबाज भी बन गए. पृथ्वी शॉ ने 18 साल 329 दिन की उम्र में भारतीय टेस्ट कैप हासिल की और करियर की पहली पारी में शतक जड़ा. उन्होंने राजकोट में ही अपने प्रथम श्रेणी करियर का आगाज किया था और शतक जड़ा था. उसी मैदान पर दो साल बाद उन्होंने प्रथम श्रेणी करियर की सफलता को टेस्ट करियर में भी दोहराते हुए शतक जड़ दिया. 

शॉ भारत के लिए डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ने वाले 15वें भारतीय हैं. उनसे पहले रोहित शर्मा ने साल 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता टेस्ट में शतक जड़ा था. 293 नंबर की टेस्ट कैप हासिल करने वाले पृथ्वी भारत के लिए टेस्ट डेब्यू करने वाले 13वें सबसे युवा खिलाड़ी हैं. पृथ्वी शॉ डेब्यू टेस्ट में सबसे तेज शतक जड़ने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरे पायदान पर आ गए हैं. उनसे ज्यादा तेजी से डेब्यू टेस्ट में शतक भारत के शिखर धवन(85) और वेस्टइंडीज के ड्वेन स्मिथ(93) ने जड़ा है. वह डेब्यू टेस्ट में 100 से कम गेंदों में शतक पूरा करने वाले दुनिया के तीसरे क्रिकेटर हैं. 

पृथ्वी शॉ डेब्यू टेस्ट में शतक बनाने वाले दुनिया के तीसरे सबसे युवा बल्लेबाज बन गए हैं. जिंबाब्वे के बल्लेबाज हैमिल्टन मासाकाड्जा ने साल 2001 में 17 साल 353 दिन में वेस्टइंडीज के खिलाफ हरारे में शतक जड़ा था वह इस सूची में पहले पायदान पर हैं. इस सूची में दूसरे पायदान पर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलीम मलिक हैं. मलिक ने 18 साल 323 दिन की उम्र में डेब्यू टेस्ट में शतक बनाया था. पृथ्वी शॉ भारत के लिए डेब्यू टेस्ट में सबसे तेज अर्धशतक जड़ने वाले चौथे बल्लेबाज बन गए हैं. उन्होंने इस मामले में भारत के पहले टेस्ट कप्तान लाला अमरनाथ को पीछे छोड़ा. पृथ्वी ने 56 गेंदों में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया. उनसे तेजी से डेब्यू टेस्ट में अर्धशतक जड़ने का कारनामा पटियाला के युवराज (42 गेंद), हार्दिक पंड्या (48 गेंद), शिखर धवन(50) ने जड़े थे. जबकि लाला अमरनाथ ने 59 गेंदों में अपने डेब्यू टेस्ट में अर्धशतक बनाया था. 

पृथ्वी शॉ वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू करते ही भारत के लिए बतौर ओपनर डेब्यू करने वाले दूसरे सबसे युवा बल्लेबाज बन गए. पृथ्वी ने 18 साल 329 दिन की उम्र में यह कारनामा किया. भारत के लिए डेब्यू करने वाले सबसे युवा ओपनर विजय मेहरा हैं उन्होंने 17 साल 256 दिन की उम्र में साल 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत के लिए टेस्ट डेब्यू किया था. इस सूची में तीसरे पायदान पर सैयद मुश्ताक अली हैं उन्होंने 19 साल 19 दिन की उम्र में टीम इंडिया के लिए बतौर ओपनर डेब्यू किया था. 

पृथ्वी शॉ का जन्म 09 नवंबर 1999 को मुंबई के विरार इलाके में हुआ था. पृथ्वी शॉ मुंबई के बाहरी इलाके विरार में पले बढ़े हैं. वे एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी और भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम के कप्तान हैं. इन्होंने अपनी कप्तानी में भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम को 2017-18 अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप जीताया है. ये एक दाएं हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ के ऑफ स्पिन गेंदबाज हैं. टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण से पहले पृथ्वी शॉ ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट के अब तक 15 मैचों में 57.44 की औसत 7 शतकों की मदद से 1,436 रन बनाए हैं. महज तीन साल की आयु से ही पृथ्वी शॉ ने क्रिकेट खेलना आरम्भ कर दिया था. पृथ्वी शॉ को 2018 इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में दिल्ली डेयरडेविल्स फ्रेंचाइजी ने 01 करोड़ 20 लाख में खरीदा था और इन्होंने अपने दूसरे ही मैच में संयुक्त रूप से सबसे कम 18 साल 169 दिनों की आयु में आईपीएल में अर्धशतक बनाया है. इससे पहले इतनी ही आयु में संजु सैमसन ने अर्धशतक बनाया था.

No comments:

Post a comment