28 November 2019

भारतीय संविधान दिवस

संविधान दिवस प्रत्येक साल देश में 26 नवंबर को मनाया जाता है. भारत में इस दिवस को राष्ट्रीय विधि दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. इस विशेष दिन पर संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर को याद किया जाता है. यह भारत के संविधान को अपनाने के उपलक्ष्य में प्रत्येक साल 26 नवंबर को मनाया जाता है. भारत की संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को औपचारिक रूप से भारत के संविधान को अपनाया था. यह 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था. यह भारत सरकार द्वारा 19 नवंबर 2015 को प्रत्येक साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाने के लिए घोषणा किया गया था. यह घोषणा अम्बेडकर की स्टैच्यू ऑफ इक्वेलिटी मेमोरियल की आधारशिला रखने के दौरान हुई थी.

21 November 2019

डेविड एटनबरो को मिला इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार

मशहूर प्रकृतिवादी एवं प्रसारक सर डेविड एटनबरो का चयन 2019 के इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार हेतु किया गया है. ट्रस्ट के ओर से कहा गया कि डेविड एटनबरो ने प्रकति में बड़े-बड़े बदलाव करने के लिए उन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है. यह जानकारी इंदिरा गांधी स्मारक न्यास के सचिव ने 19 नवंबर 2019 को यहां जारी एक विज्ञप्ति में दी. उन्होंने बताया कि सर डेविड एटनबरो पांच दशक से अधिक समय से जीव-जंतुओं पर लगातार काम कर रहे हैं और उन्होंने इस पर कई अहम पुस्तकें भी लिखी हैं. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की अध्यक्षता वाली अंतरराष्ट्रीय जूरी ने प्रसिद्ध प्रकृति विज्ञानी और प्रसारक सर डेविड एटनबरो को ‘इंदिरा गांधी शान्ति, निरस्त्रीकरण और विकास’ सम्मान 2019 हेतु चयनित किया है.

सड़क हादसों में तमिलनाडु पहले स्थान पर

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 19 नवंबर 2019 को अपनी रिपोर्ट ‘भारत में सड़क दुर्घटनाएं- 2018’ जारी की है. रिपोर्ट के अनुसार साल 2017 के मुकाबले साल 2018 में सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में 0.46 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. इस दौरान सड़क दुर्घटना में मृत्यु दर में भी 2.37 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. रिपोर्ट में साल 2010 तक दुर्घटनाओं, मौतों और घायलों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई थी. इसके बाद साल दर साल मामूली उतार-चढ़ाव के साथ वे कुछ हद तक स्थिर हो गये. इसके अतिरिक्त साल 2010 से साल 2018 तक की अवधि में दुर्घटनाओं के साथ-साथ दुर्घटनाओं की वार्षिक वृद्धि दर में भारी गिरावट आई.

18 November 2019

प्रसिद्ध गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन

बिहार के प्रसिद्ध गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का 14 नवंबर 2019 को निधन हो गया है. वे 74 वर्ष के थे. उनके निधन की खबर मिलते ही पूरे बिहार में शोक की लहर दौड़ गई है. पिछले कई सालों से वशिष्ठ नारायण सिंह बीमार चल रहे थे. उनका इलाज पटना के पीएमसीएच अस्पताल में चल रहा था. वशिष्ठ नारायण सिंह ने आंइस्टीन के सापेक्ष सिद्धांत को चुनौती दी थी. उनके बारे में मशहूर है कि नासा में अपोलो की लांचिंग से पहले जब 31 कंप्यूटर कुछ समय हेतु बंद हो गए तो कंप्यूटर ठीक होने पर उनका तथा कंप्यूटर्स का गणना (कैलकुलेशन) एक था.

वशिष्ठ नारायण सिंह का जन्म बिहार के

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने 18 नवंबर 2019 को देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) पद की शपथ ली. उन्हें राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सीजेआई पद की शपथ दिलाई. उन्होंने मौजूदा मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई का स्थान लिया है. न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे 17 महीने तक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश पद पर रहेंगे तथा 23 अप्रैल 2021 को सेवानिवृत्त होंगे. न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे महाराष्ट्र के एक प्रसिद्ध वकीलों के परिवार से आते हैं. पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने 03 अक्टूबर 2018 को 46वें मुख्य न्यायाधीश पद के रूप में शपथ ली थी. उनका कार्यकाल मुख्य रूप से 13 महीने 15 दिन का रहा. उन्होंने अयोध्या विवाद पर महत्वपूर्ण फैसला दिया. उन्होंने राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका भी खारिज की.

13 November 2019

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का निधन

भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का 10 नवंबर 2019 को चेन्नई में निधन हो गया. वे 87 वर्ष के थे. वे भारत में चुनाव नियमों को सख्ती से लागू करवाने के लिए मशहूर थे. टीएन शेषन को उनके कड़े रुख के लिए भी जाना जाता है. वे भारत के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त थे. उन्होंने 12 दिसंबर 1990 से 11 दिसंबर 1996 तक इस पद पर रहे. उन्होंने भारतीय चुनाव प्रणाली में कई बदलाव किये थे. उनके द्वारा भारत में वोटर आईडी कार्ड भी शुरू किया गया था. उनके बारे में एक प्रसिद्ध कोटेशन था की ‘राजनेता सिर्फ दो लोगों से डरते हैं, एक भगवान और दूसरे टीएन शेषन’.

भारत में मातृ मृत्यु दर में आई कमी: एसआरएस रिपोर्ट

सैम्पल रजिस्ट्रेशन सिस्टम (एसआरएस) ने मापा कि भारत में मातृ मृत्यु दर (एमएमआर) में गिरावट आई है. भारत में मातृ मृत्यु दर में काफी कमी देखी जा रही है जो देश के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है. दक्षिणी राज्यों में प्रति एक लाख जन्म पर एमएमआर 77 से घटकर 72 पर आ गया है जबकि यह आंकड़ा अन्य राज्यों में 93 से घटकर 90 हो गया है. भारत में मातृ मृत्यु दर में साल 2013 से अब तक 26.9 प्रतिशत की कमी आई है.

06 November 2019

वॉएजर-2: सूर्य की सीमा के पार पहुंचने वाला दूसरा यान बना

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का वॉएजर-2 (Voyager 2) सूर्य की सीमा के पार पहुंचने वाला इतिहास का दूसरा अंतिरक्ष यान बन गया है. नासा के नाम एक और बहुत बड़ी उपलब्धि जुड़ गई है. नासा का वॉएजर-2 यान चार दशक से लंबे सफर के बाद सौरमंडल की परिधि के बाहर पहुंचने वाला दूसरा यान बन गया है. नासा का ही वॉएजर-1 इससे पहले इस सीमा के पार पहुंचा था. अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ आयोवा के शोधकर्ताओं के अनुसार, वॉएजर-2 इंटरस्टेलर मीडियम (आइएसएम) में पहुंच गया है. विज्ञान पत्रिका नेचर एस्ट्रोनॉमी में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, वॉएजर-2 ने 05 नवंबर 2018 को आइएसएम में प्रवेश किया था.