मासिक करेंट अफेयर्स

25 November 2021

तीनों कृषि कानून वापस लेने के बाद भी किसान MSP को लेकर आन्दोलन पर अडिग है, ये MSP क्या है? समझिए जिसपर हो रहा है इतना हंगामा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकाश पर्व के दिन तीनों कृषि कानून वापस लेने का ऐलान कर दिया लेकिन किसानों ने कहा है कि उनका आंदोलन तब तक जारी रहेगा जबतक सरकार MSP की गारंटी नहीं देती. कड़ाके की ठंड और भूख-प्यास की परवाह किए बिना देश का अन्नदाता कहा जाने वाला किसान पिछले एस साल से भी ज्यादा दिनों से सड़कों पर है. अपने घर की सुख-सुविधाएं छोड़कर सैकड़ों किलोमीटर दूर हजारों किसान दिल्ली के बॉडर्र की सड़कों पर डेरा जमाए हुए बैठे हैं. किसानों के आंदोलन में एक चीज बार-बार निकल कर सामने आ रही है और वह है फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी. आज बहुत से लोग वाकिफ नहीं होंगे कि ये एमएसपी क्या होता है या फिर ये कैसे तय किया जाता है, इससे किसानों को क्या फायदा है. यहां हम आपको तफ्सील के साथ बता रहे हैं कि ये एमएसपी क्या है और इसे तय करने का फार्मूला क्या है.

24 November 2021

गुरु तेग बहादुर सिंह जिन्होंने धर्म की रक्षा के लिए शहीद हो गये लेकिन कभी मुगलो के आधिपत्य को स्वीकार नहीं किया

भारत में सभी धर्मों को समान नजर से देखा जाता है लेकिन यह कथन हमेशा सिर्फ कागजी ही लगता है. इतिहास गवाह है कि भारत में धर्म के नाम पर बहुत ही क्रुर दंगे हुए हैं. यह दंगे ना सिर्फ भारत की धर्म-निरपेक्षता पर बहुत बड़ा सवाल खड़ा करते हैं बल्कि यह दंगे उस देश में हो रहे हैं जहा महापुरुषों ने अपने जीवन का बलिदान तक देकर धर्म की रक्षा की है. धर्म के नाम पर मर मिटने की जब भी बात होती है तो सिख समुदाय के गुरुतेग बहादुर जी का नाम बड़ी ही इज्जत और सम्मान के साथ लिया जाता है. अपने धर्म के नाम पर उन्होंने अपने सिर को भी कुर्बान कर दिया. आज उनका बलिदान दिवस है तो चलिए जानते हैं उनके बारें में कुछ बातें.

23 November 2021

संसद में कैसे होगा कृषि कानून वापस? क्या है वैधानिक प्रक्रिया और तरीका?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकाश पर्व के दिन तीनों कृषि कानून वापस लेने का ऐलान कर दिया है. हालांकि, किसानों ने कहा है कि उनका आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जब तक कि संसद से कानून वापस नहीं हो जाता. ऐसे में सवाल यह उठता है कि अब ये कानून संसद से कब वापस होंगे? और कानून वापसी की क्या प्रक्रिया है?

गुरु नानक जयंती के अवसर पर पीएम मोदी ने तीनों कृषि क़ानून वापस लेने की घोषणा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु नानक जयंती के मौके पर बड़ा ऐलान करते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की. बीते कई महीनों से जारी किसानों के आंदोलन को देखते हुए सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया था. 
देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने किसानों से अब घर लौटने की अपील की और कहा कि इस कानून को खत्म करने प्रक्रिया शीतकालीन सत्र में शुरू हो जाएगी. पीएम मोदी ने कहा कि हमारी तपस्या में ही कमी रही होगी, जिसकी वजह से हम कुछ किसानों को नहीं समझा पाए. 

21 November 2021

देखिए चंद्रगुप्त मौर्य ने किस प्रकार किया मौर्य साम्राज्य की स्थापना

मौर्य वंश द्वारा स्थापित मौर्य साम्राज्य ने प्राचीन भारत में 322 ईसा पूर्व से 187 ईसा पूर्व तक प्रभुत्व कायम किया था. यह किसी भी भारतीय राजवंश द्वारा स्‍थापित किया गया सबसे बड़ा साम्राज्‍य बन गया. मौर्य साम्राज्य की राजधानी पाटलिपुत्र जो अब पटना कहा जाता है में थी और साम्राज्य पूर्व की ओर भारत-गंगा योजना में मगध में विस्तारित था. यह राज्‍य अशोक के शासनकाल के दौरान पांच मिलियन वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला, जो भारतीय उपमहाद्वीप में अब तक का सबसे बड़ा साम्राज्य है.

20 November 2021

मगध सम्राज्य पर शिशुनाग राजवंश की स्थापना

मगध में हर्यक वंश के राजा नागदशक को उसका सेनापति शिशुनाग ने राज्य विद्रोह कर 492 ई.पू. में हत्या कर दिया और स्वंय मगध का राजा बन गया और मगध पर इस प्रकार शिशुनाग वंश की स्थापना की. शिशुनाग लिच्छवि राजा के वेश्या पत्‍नी से उत्पन्‍न पुत्र था. पुराणों के अनुसार वह क्षत्रिय था. इसने सर्वप्रथम मगध के प्रबल प्रतिद्वन्दी राज्य अवन्ति पर आक्रमण कर उसे अपने राज्य में मिलाया. मगध की सीमा पश्‍चिम मालवा तक फैल गई और वत्स को मगध में मिला दिया. वत्स और अवन्ति के मगध में विलय से, पाटलिपुत्र को पश्‍चिमी देशों से व्यापारिक मार्ग के लिए रास्ता खुल गया.

शिशुनाग ने मगध से बंगाल की सीमा से मालवा तक विशाल भू-भाग पर अधिकार कर लिया. शिशुनाग एक शक्‍तिशाली शासक था जिसने गिरिव्रज के अलावा वैशाली नगर को भी अपनी राजधानी बनाया. 394 ई.पू. में इसकी मृत्यु हो गई जिसके बाद उसका पुत्र कालाशोक मगध का शासक बना. महावंश में इसे कालाशोक तथा पुराणों में काकवर्ण कहा गया है. कालाशोक ने अपनी राजधानी को पाटलिपुत्र स्थानान्तरित कर दिया था. इसने 28 वर्षों तक शासन किया. कालाशोक के शासनकाल में ही बौद्ध धर्म की द्वितीय संगीति का आयोजन हुआ. कालाशोक को राजधानी पाटलिपुत्र में घूमते समय महापद्यनन्द नामक व्यक्‍ति ने चाकू मारकर हत्या कर दी थी. 366 ई.पू. कालाशोक की मृत्यु हो गई. कालाशोक के दस पुत्र थे, जिन्होंने मगध पर 22 वर्षों तक शासन किया. शिशुनाग वंश का अंतिम राजा महानन्दि था. महानन्दि का हत्या उसी के शूद्र दासी के साथ हुए पुत्र महापद्मनन्द द्वारा नगर विहार के दौरान कर दी गई और महापद्मनन्द मगध का राजा बनकर नन्द वंश की स्थापना की. इस प्रकार 344 ई.पू. में शिशुनाग वंश का अन्त हो गया और नन्द वंश का उदय हुआ.

19 November 2021

पीएम मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 
योगी सरकार द्वारा लखनऊ से गाजीपुर तक बनाए गए पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण  मंगलवार को सुलतानपुर के कूड़ेभार क्षेत्र से किया. इस अवसर पर एक्सप्रेस-वे की हवाई पट्टी पर वायुसेना की ओर से एयरशो भी किया गया, जिसमें मिराज, जगुआर और सुखोई जैसे लड़ाकू विमानों ने यहां उतरकर उड़ान भरी और हवाई करतब से रोमांचक युद्ध कौशल भी दिखाया. वायुसेना के हरक्यूलिस विमान से एक्सप्रेस-वे की ही हवाई पट्टी पर उतरे पीएम मोदी ने कहा कि जितनी जरूरी देश की समृद्धि है, उतनी ही जरूरी देश की सुरक्षा भी है. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे वायुसेना के लिए एक और ताकत बन गया है. यहां जरूरत पर फाइटर प्लेन उतरेंगे. पीएम मोदी ने र्वांचल एक्सप्रेस-वे को उत्तर प्रदेश के विकास और नए यूपी के निर्माण का एक्सप्रेस-वे बताते हुए दावा

इश्क के दरिया में डूबकर फ़ना हो जाने वाले रोमियो की क्या थी प्रेम कहानी

योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के सिंहासन पर बैठते ही मनचले युवकों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है. पुलिस की टीम दल-बल के साथ बड़े बाज़ारों और पार्कों में ऐसे युवा युगल जोड़ियों की तलाश कर रहे हैं. सरकार ने पुलिस के इस दल का नाम रखा है – ऐंटी रोमियो स्क्वाड. लेकिन जब से प्रदेश में यह स्‍क्‍वायड शुरू हुआ है तब से रोमियो के बारे में जानने की लोगों में उत्सुकता बढ़ गई है. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अपनी प्रेमिका जूलियट के साथ इश्‍क फरमाने वाला यह रोमियो असल में कौन था?

गुरू नानक जयंती

सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरू नानक देव की जयंती आज 19नवंबर को दुनिया भर में मनाई गई. सिख समुदाय के लिए ये दिन बहुत ही विशेष है. सिखों के प्रथम गुरु नानकदेवजी की जयंती को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है. गुरू नानक सिखों के प्रथम गुरु (आदि गुरु) हैं. इनके अनुयायी इन्हें गुरु नानक, गुरु नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह नामों से संबोधित करते हैं. गुरुनानाक देव जी का जन्म रावी नदी के किनारे स्थित तलवंडी नामक गांव में कार्तिक पूर्णिमा को हुआ था. तलवंडी का नाम आगे चलकर नानक के नाम पर ननकाना पड़ गया. ननकाना साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में है. गुरु नानक 20 अगस्त, 1507 को सिक्खों के प्रथम गुरु बने एंव इस पद पर 22 सितम्बर, 1539 तक रहे. गुरुनानक का व्यक्तित्व असाधारण था. उनमें पैगम्बर, दार्शनिक, राजयोगी, गृहस्थ, त्यागी, धर्म-सुधारक, समाज-सुधारक, कवि, संगीतज्ञ, देशभक्त, विश्वबन्धु सभी के गुण उत्कृष्ट मात्रा में विद्यमान थे. उनमें विचार-शक्ति और क्रिया-शक्ति का अपूर्व सामंजस्य था. उन्होंने पूरे देश की यात्रा की. लोगों पर उनके विचारों का असाधारण प्रभाव पड़ा. उनमें सभी गुण मौजूद थे. पैगंबर, दार्शनिक, राजयोगी, गृहस्थ, त्यागी, धर्मसुधारक, कवि, संगीतज्ञ, देशभक्त, विश्वबंधु आदि सभी गुण जैसे एक व्यक्ति में सिमटकर आ गए थे. उनकी रचना 'जपुजी' का सिक्खों के लिए वही महत्त्व है जो हिंदुओं के लिए गीता का है.

स्पेशल ट्रेन और स्पेशल किराया अब खत्म, रेलवे बोर्ड ने लिया फैसला

देश में कोरोना के मामलों में कमी के बाद व कोरोना वैक्सीनेशन के बाद रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है. जिन ट्रेनों को स्पेशल ट्रेनों के तौर पर अब तका चलाया जा रहा था, उन सभी ट्रेनों को अब रेलवे ने नियमित कर दिया है. साथ ही रेलवे ने स्पेशल ट्रेनों में लगने वाले अलग से चार्ज को भी हटा दिया है. ऐसे में अब यात्री पुरानी दरों पर ट्रेनों में सफर कर पाएंगे. शुक्रवार रात इसके आदेश रेलवे बोर्ड ने जारी का दिया है. 
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण रेलवे ने मेल, एक्सप्रेस, स्पेशल और हालीडे-डे ट्रेन को स्पेशल ट्रेन बनाकर चला रहा था. साथ ही रेलवे अलग से चार्ज भी ले रहा था. रेलवे ने कोरोना स्थिति में सुधार होने के बाद अब सामान्य परिचालन बहाल करने का फैसला किया है.

मगध सम्राज्य पर हर्यक राजवंश की स्थापना

बिम्बिसार को मगध साम्राज्य का वास्तविक संस्थापक/राजा माना जाता है. बिम्बिसार ने हर्यक वंश की स्थापना 544 ई.पू. में की थी. इसके साथ ही राजनीतिक शक्‍ति के रूप में बिहार का सर्वप्रथम उदय हुआ. बिम्बिसार ने गिरिव्रज (राजगीर) को अपनी राजधानी बनायी. बिम्बिसार एक कूटनीतिज्ञ और दूरदर्शी शासक था. उसने प्रमुख राजवंशों में वैवाहिक सम्बन्ध स्थापित कर राज्य को फैलाया. सबसे पहले उसने लिच्छवि गणराज्य के शासक चेतक की पुत्री चेलना के साथ विवाह किया. दूसरा प्रमुख वैवाहिक सम्बन्ध कौशल राजा प्रसेनजीत की बहन महाकौशला के साथ विवाह किया. इसके बाद भद्र देश की राजकुमारी क्षेमा के साथ विवाह किया.

राजनीतिक विचारधारा का लेफ्ट और राइट में बंटवारा, क्यों वामपन्थी नहीं स्वीकारना चाहते राष्ट्रवाद

भारत में राजनीति का इतिहास बहुत ही गहरा है जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. भारत वो देश है जहाँ के हालात बहुत ही भिन्न रहे फिर वो चाहे हिन्दू राजाओं का दौर हो, मुस्लिम साम्राज्य का दौर हो या फिर अंग्रेजी शासन का दौर हो भारत दूसरों के द्वारा थोपी हुई विचारधारा के अधीन ही रहा जिसका कारण था राष्ट्रवाद की भावना का ना होना और देश के अपने ही लोगों में वैचारिक मतभेद. खैर राजा महाराजा एवं अंग्रेजों के दौर को मैं दुबारा दोहराना नहीं चाहता, यहाँ मेरा मकसद भारत में व्याप्त वामपन्थी और दक्षिणपन्थी विचारधाराओं से परिचय कराना है. वामपन्थी विचारधारा और दक्षिणपन्थी विचारधारा की वास्तिविकता यह है कि इनका जन्म हिंदुस्तान में हुआ ही नहीं “वामपन्थ” “दक्षिणपन्थ” ये दो शब्दावलियाँ जो यूरोपीय देशों के आतंरिक राजनीतिक संघर्षों की उपज मात्र है जिसका हिंदुस्तान से कोई लेना देना ना था और ना है.

18 November 2021

अखंड भारत में शासन व्यवस्था और मगध सम्राज्य का उदय

प्राचीन काल में छठी शताब्दी ईoपूo में अखण्ड भारत में शासन व्यवस्था चलाने के लिए अखण्ड भारत को सोलह महाजनपदों में बाटा गया था. इसकी जानकारी बौद्ध ग्रन्थ अंगुत्तर निकाय और जैन ग्रन्थ भगवतीसूत्र से प्राप्त होती है. इन 16 महाजनपदों में से 14 राजतंत्र और दो (वज्जि, मल्ल) गणतंत्र थे. बुद्ध काल में सर्वाधिक शक्तिशाली महाजनपद था– वत्स, अवन्ति, मगध, कोसल.

17 November 2021

देखिए जम्बूद्वीप से अखंड भारत कैसे बना और फिर टुकड़े-टुकड़े में खंडित कैसे हुआ

अखंड बोलना इसलिए पड़ता है क्योंकि सबकुछ खंड-खंड हो चला है. जम्बूद्वीप से छोटा है भारतवर्ष. भारतवर्ष में ही आर्यावर्त स्थित था. आज न जम्बूद्वीप है न भारतवर्ष और न आर्यावर्त. आज सिर्फ हिन्दुस्थान है और सच कहें तो यह भी नहीं. आओ जानते हैं भारतवर्ष के बनने की कहानी:

16 November 2021

जानिए विश्व के प्रसिद्ध विश्वविद्यालय नालन्दा, विक्रमशिला और ओदंतपुरी को किसने जलाया

नालंदा विश्वविद्यालय: शिक्षा के मामले में आज भले ही भारत दुनिया के कई देशों से पीछे हो, लेकिन एक समय था, जब हिंदुस्तान शिक्षा का केंद्र हुआ करता था. भारत में ही दुनिया का पहला विश्वविद्यालय खुला था, जिसे नालंदा विश्वविद्यालय के नाम से जाना जाता है. इस विश्वविद्यालय की स्थापना गुप्त शासक कुमारगुप्त प्रथम (450-470) ने की थी. इस विश्वविद्यालय को नौवीं शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त थी, लेकिन अब यह एक खंडहर बनकर रह चुका है, जहां दुनियाभर से लोग घूमने के लिए आते हैं. बिहार के नालंदा में स्थित इस विश्वविद्यालय में आठवीं शताब्दी से 12वीं शताब्दी के बीच दुनिया के कई देशों से छात्र पढ़ने आते थे. इस विश्वविद्यालय में करीब 10 हजार छात्र पढ़ते थे, जो भारत के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा कोरिया, जापान, चीन, तिब्बत, इंडोनेशिया, फारस और तुर्की से आते थे. यहां करीब दो हजार शिक्षक पढ़ाते थे. 

15 November 2021

भारत के महान राजा चक्रवर्ती सम्राट विक्रमादित्य जिन्होंने अखंड भारत पर राज किया

सम्राट विक्रमादित्य उज्जैन के राजा थे, जो अपने ज्ञान, वीरता और उदारशीलता के लिए प्रसिद्ध थे. सम्राट विक्रमादित्य गर्दभिल्ल वंश के शासक थे इनके पिता का नाम राजा गंधर्वसेन  था. नाबोवाहन के पुत्र राजा गंधर्वसेन भी चक्रवर्ती सम्राट थे.  उनके और भी नाम थे जैसे गर्द भिल्ल, गदर्भवेष. गंधर्वसेन के पुत्र विक्रमादित्य और भर्तृहरी थे. विक्रम की माता का नाम सौम्यदर्शना था जिन्हें वीरमती और मदनरेखा भी कहते थे. उनकी एक बहन थी जिसे मैनावती कहते थे. उनके पराक्रम को देखकर ही उन्हें महान सम्राट कहा गया और उनके नाम की उपाधि कुल 14 भारतीय राजाओं को दी गई. "विक्रमादित्य" की उपाधि भारतीय इतिहास में बाद के कई अन्य राजाओं ने प्राप्त की थी, जिनमें गुप्त सम्राट चन्द्रगुप्त द्वितीय और सम्राट हेमचन्द्र विक्रमादित्य  उल्लेखनीय हैं.

13 November 2021

पद्म पुरस्कार 2021:पद्म पुरस्कार से सम्मानित हुए धरती के योद्धा; किसी ने जंगल उगाए, तो किसी ने फल बेचकर स्कूल बनवाया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 8 नवंबर को पद्म पुरस्कार प्रदान किए. कुल 119 लोगों को ये पुरस्कार दिए गए। 10 लोगों को पद्म भूषण, 7 को पद्म विभूषण और 102 लोगों को पद्मश्री से सम्मानित किया गया. सम्मान पाने वाले कुल 119 लोगों में 29 महिलाएं और एक ट्रांसजेडर भी शामिल है. 
पद्म पुरस्कार पाने वालों में शामिल एक्ट्रेस कंगना रनोट, सिंगर अदनान सामी, स्पोर्ट्स पर्सनैलिटी पीवी सिंधु और मेरी कॉम, बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा, शास्त्रीय गायक पंडित छन्नूलाल मिश्र उन नामों में आते हैं जिनसे हर कोई वाकिफ है. इनकी उपलब्धियां सबको पता है; लेकिन कल कुछ ऐसे चेहरे और तस्वीरें लोगों के सामने आईं, जिन्हें कल से पहले शायद ही कोई जानता होगा, लेकिन आज ये शक्ति, सम्मान और नए भारत की तस्वीर बन गई हैं.

पाकिस्तानी नौसेना की बढ़ी ताकत, चीन ने Pakistan को सौंपा अत्याधुनिक 054 युद्धपोत

चीन ने हाल ही में पाकिस्तान को पहला टाइप 054 युद्धपोत सौंपा है. ये युद्धपोत उस समझौते के तहत सौंपा गया है जिसके तहत चीन को पाकिस्तानी नौसेना के लिए चार युद्धपोत बनाने हैं. फिलहाल चीन ने जिस युद्धपोत की आपूर्ति पाकिस्‍तान को की है वो इस समझौते के तहत सौंपा गया पहला युद्धपोत है. 
चीन ने पाकिस्तान को एक विध्वंसक युद्धपोत दिया है. इससे पाकिस्तान की नौसेना की ताकत में बड़ा इजाफा होगा. चीन की स्‍थानीय मीडिया के अनुसार इस युद्धपोत का निर्माण चाइना शिपबिल्डिंग कारपोरेशन लिमिटेड (सीएसएसएल) ने किया है. ग्‍लोबल टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार चीन ने इस युद्धपोत को एक कमीशन सेरेमनी के दौरान पाकिस्तानी नौसेना को सौंपा है.

रोहित शर्मा बने T-20 में भारतीय टीम के कप्तान

टी-20 विश्वकप के ठीक बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए भारतीय टीम का घोषणा हो गया है. 17 नवंबर से शुरू होने वाली टी-20 सीरीज में रोहित शर्मा भारतीय टीम की कप्तानी करेंगे. वहीं, केएल राहुल को उपकप्तान बनाया गया है. 
रोहित शर्मा को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टी-20 टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है. इसके अतिरिक्त विराट कोहली (Virat Kohli) को न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में आराम दिया गया है. टी-20 विश्व कप (T20 World Cup) के आगाज के पहले ही विराट कोहली ने टी-20 की कप्तानी छोड़ने का घोषणा कर दिया था.

National Internet Exchange of India ने 'डिजिटल पेमेंट गेटवे' शुरू किया

नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया ने हाल ही में 'डिजिटल पेमेंट गेटवे' को शुरू किया है. इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के तहत नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एनआईएक्सआई) एक गैर-लाभकारी कंपनी है. पेमेंट गेटवे सेवाओं को शुरू करने के लिए नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया ने पेयू और एनएसडीएल के साथ साझेदारी की है. 
इसका उद्देश्य सभी के लिए इंटरनेट को सुलभ बनाना है. अपने ग्राहकों और साझेदारों की सुविधा के लिए, उपयोग करने में आसानी के उद्देश्य से अपनी सभी ग्राहक उपयोग वाली वेबसाइटों पर पेमेंट गेटवे को एकीकृत कर अपनी तीन व्यावसायिक इकाइयों में डिजिटल भुगतान को सक्षम करके नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एनआईएक्सआई) अब डिजिटल हो गया है.

विवेक सागर प्रसाद बने 18 सदस्यीय टीम के कप्तान

हॉकी इंडिया ने 11 नवंबर 2021 को आगामी अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) हॉकी पुरुष जूनियर विश्व कप 2021 के लिए 18 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा कर दी. ओडिशा के भुवनेश्वर में 24 नवंबर 2021 से शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट में दुनिया भर की 16 शीर्ष टीमें खिताब के लिए लड़ेंगी, जबकि भारतीय टीम अपना टाइटल डिफेंड करेगी. 
भारत ने साल 2016 में हुआ पिछला टूर्नामेंट जीता था. टोक्यो ओलंपिक में सीनियर टीम का हिस्सा रहे विवेक सागर को टीम की कप्तानी सौंपी गई है जबकि 2018 युवा ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली टीम के डिफेंडर संजय को उप कप्तान बनाया गया है.

केन्द्र सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहन के बारे में जागरूकता के लिए वेब पोर्टल "ई-अमृत पोर्टल" को लांच किया

केन्द्र सरकार ने  10 नवंबर, 2021 को "ई-अमृत पोर्टल" नामक एक इलेक्ट्रिक वाहन जागरूकता वेब पोर्टल लॉन्च किया है. 
इस पोर्टल को UK के ग्लासगो में चल रहे COP26 समिट में लॉन्च किया गया था. ई-अमृत पोर्टल के शुभारंभ में नीति आयोग के सलाहकार सुधेंदु ज्योति सिन्हा और UK के उच्च स्तरीय क्लाइमेट एक्शन चैंपियन निगेल टॉपिंग ने भाग लिया. ई-अमृत पोर्टल "भारत के परिवहन के लिए त्वरित ई-गतिशीलता क्रांति" के लिए निर्मित किया गया है. यह वेब पोर्टल नीति आयोग द्वारा UK सरकार के सहयोग से भारत-UK संयुक्त रोडमैप, 2030 के एक हिस्से के रूप में विकसित किया गया था.

05 November 2021

भारत का राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तम्भ

आज हम इतिहास के पन्नों से कुछ जानकारी आपसे साझा करेंगे जिसका सीधा संबंध हमसे और हमारे देश से है. उत्तर प्रदेश के सारनाथ स्थित अशोक स्तम्भ के सिंहों को 26 जनवरी 1950 को राष्ट्रीय प्रतीक के रूप में मान्यता मिली थी. ये दहाड़ते हुए सिंह धर्म चक्र प्रवर्तन के रूप में दृष्टिमान हैं. बुद्ध ने वर्षावास समाप्ति पर भिक्षुओं को चारों दिशाओं में जाकर लोक कल्याण हेतु ‘बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय’ का आदेश दिया था, जो आज सारनाथ के नाम से विश्विविख्यात है. इसलिए यहाँ पर मौर्य साम्राज्य के तीसरे सम्राट व सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य के पौत्र महान चक्रवर्ती सम्राट अशोक ने चारों दिशाओं में गर्जना करते हुए शेरों को बनवाया था.

जानिए ब्राह्मण चणक का अपमान करने पर किस प्रकार हुआ राजा घनानंद का सत्यानाश

चाणक्य भारत के महान अर्थशास्त्री, राजनीति के ज्ञाता मानें जाते हैं. वे बचपन से ही अन्य बालकों से भिन्न थे. उनके तार्किकता का कोई जवाब नहीं था. चाणक्य को बचपन से ही वेद पुराणों में बहुत रूचि थी. इतिहास में उनका नाम एक कुशल नेतृत्वकर्ता व बड़े रणनीतिकारों में शामिल है. इनके सर्वगुणसंपन्न होने की ही वजह से ही इनको अनेक नामों से पुकारा जाता है, जिसमें कौटिल्य, विष्णुगुप्त, वात्स्यान, मल्ल्नाग व् अन्य नाम शामिल हैं. चाणक्य का जन्म 350 ई.पू. में तक्षशिला में हुआ था. उनके पिता चणक मुनि एक महान शिक्षक थे. इनके पिता ने बचपन में उनका नाम कौटिल्य रखा था. एक शिक्षक होने के नाते चणक मुनि अपने राज्य की रक्षा के लिए बेहद चिंतित थे.

02 November 2021

राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एंव धनवंतरी जयंती

आयुष मंत्रालय प्रत्‍येक वर्ष धनवंतरी जयंती के अवसर पर आयुर्वेद दिवस मनाता है. इस बार आयुर्वेद दिवस 02 नवंबर 2021 को मनाया गया. राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस (National Ayurveda Day) हर साल धन्वंतरी जयंती या धनतेरस (Dhanteras) के दिन मनाया जाता है. राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस (National Ayurveda Day) की शुरुआत साल 2016 में हुई थी. पहला आयुर्वेद दिवस (Ayurveda Day) 28 अक्टूबर 2016 को धनतेरस के दिन मनाया गया था. बता दें कि आयुर्वेद सालों से हमारे अच्छे स्वास्थ्य में अपनी भूमिका निभाता आ रहा है. ऐसे में आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया जाता है. राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस (National Ayurveda Day) हर साल धनतेरस के दिन मनाया जाता है.


29 October 2021

भारत के महान वीरांगना पद्मावती जिन्होंने जौहर कर ली लेकिन खिलजी के अधिपत्य को कभी स्वीकार नही की

आज कहानी है एक ऐसे रानी की, जो इतिहास की सबसे चर्चित रानियों में से एक है. आज भी राजस्थान में चित्तौड़ की इस रानी की सुंदरता के साथ-साथ शौर्य और बलिदान के किस्से प्रसिद्ध हैं. लेकिन इन्हें ख्याति मिली कुछ वर्ष पूर्व जब उनके और क्रूर मुस्लिम शासक अलाउद्दीन खिलजी पर फ़िल्म बनी और पूरे इतिहास को तोड़ मरोड़ कर हमारे समक्ष प्रस्तुत कर दिया गया. हम बात कर रहे हैं चितौड़ की शेरनी जिसे रानी पद्मावती के नाम से भी जानते हैं. 

बख्तियारपुर नाम नहीं एक कलंक है बिहार के माथे पर

बख्तियारपुर बिहार का एक शहर है जो पटना जिले में पड़ता है. इस शहर को तुर्क आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने बसाया था. उसका पूरा नाम इख्तियारुद्दीन मुहम्मद बिन बख्तियार खिलजी था. बिहार का वह मुगल शासक था. उस समय दिल्ली के बादशाह कुतुबुद्दीन एबक ने यूपी के मिर्जापुर की जिम्मेदारी बख्तियार खिलजी को दिया था. यूपी से बिहार और बंगाल नजदीक होने के कारन उसका नजर बिहार और बंगाल पर पड़ा और वह पुरे बिहार पर अधिकार कर लिया. एक समय बख्तियार खिलजी बहुत ज्यादा बीमार पड़ गया. उसके हकीमों ने इसका काफी उपचार किया पर कोई फायदा नहीं हुआ. तब उसे नालंदा विश्वविद्यालय के आयुर्वेद विभाग के प्रमुख आचार्य राहुल श्रीभद्रजी से उपचार कराने की सलाह दी गई. उसने आचार्य राहुल को बुलवा लिया तथा इलाज से पहले शर्त लगा दी की वह किसी हिंदुस्तानी दवाई का सेवन नहीं करेगा. उसके बाद भी उसने कहा कि अगर वह ठीक नहीं हुआ तो आचार्य की हत्या करवा देगा.

भारत के महान राजा पृथ्वीराज चौहान जिन्होंने मो गौरी को 17 वार पराजित किया और नानी याद दिला दी

भारत के इतिहास का एक गौरवपूर्ण नाम है पृथ्वीराज चौहान. यह क्षत्रिय महारथी जितना परमवीर था उतना ही दयालु और क्षमाशील था, जिसने अपने पराक्रम से हिन्दुस्तान के गौरव में बेहिसाब इजाफा किया लेकिन हाथ आए शत्रु के साथ दयी करने की भूल भी कर दी. शत्रु पर दया की ये भूल हिन्दुस्तान के इतिहास पर भारी पड़ गई. वो योद्धा और कोई नहीं बल्कि दिल्ली की गद्दी के आखिरी हिन्दू सम्राट पृथ्वीराज चौहान हैं. पृथ्वीराज तृतीय को देश पृथ्वीराज चौहान के नाम से जानता है. पराक्रम और साहस जिनके हथियार थे. दया करुणा जिनके श्रृंगार. पृथ्वीराज चौहान का जन्म 1166 ईस्वी में माना जाता है. पिता सोमेश्वर चौहान अजमेर के राजा थे. पृथ्वी राज की मां महारानी कर्पूरादेवी स्वयं एक वीरांगना थीं. जयानक नाम के कश्मीरी कवि द्वारा रचित पृथ्वीराज विजय महाकाव्य में लिखा है कि उन्हें 6 भाषाओं का अच्छा ज्ञान था.

देखिए किस प्रकार मेवाड़ के राजा महाराणा प्रताप ने अकबर को नानी याद दिलाई

आज हम बात कर रहे हैं वीरों की भूमि राजस्थान में जन्मे सोलहवीं शताब्दी के महान हिंदू राजा महाराणा प्रताप की, जिन्होंने मुगल शासक अकबर को कई बार रणभूमि में टक्कर द. अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई, 1540 को कुंभलगढ़ में हुआ था. उन्होंने अपनी मां से ही युद्ध कौशल सीखा था. राजा महाराणा प्रताप के भाले का वजन कुल 81 किलो था, साथ ही उनके छाती का कवच 72 किलो का था. भाला, कवच, ढाल और दो तलवारों के साथ उनके अस्त्र और शस्त्रों का वजन 208 किलो था.

भारत के महान वीर हिन्दू हृदय साम्राट शिवाजी महाराज जिन्होंने मुगलो को अपनी औकात दिखा दिया

भारत के वीर सपूतों में से एक श्रीमंत छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में सभी लोग जानते हैं. बहुत से लोग इन्हें हिन्दू हृदय सम्राट कहते हैं तो कुछ लोग इन्हें मराठा गौरव कहते हैं, जबकि वे भारतीय गणराज्य के महानायक थे. छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म सन्‌ 19 फरवरी 1630 में मराठा परिवार में हुआ. उनका पूरा नाम शिवाजी भोंसले था. शिवाजी शाहजी और माता जीजाबाई के पुत्र थे. उनका जन्म स्थान पुणे के पास स्थित शिवनेरी का दुर्ग है. बचपन में शिवाजी अपनी आयु के बालक इकट्ठे कर उनके नेता बनकर युद्ध करने और किले जीतने का खेल खेला करते थे. युवावस्था में आते ही उनका खेल वास्तविक कर्म शत्रु बनकर शत्रुओं पर आक्रमण कर उनके किले आदि भी जीतने लगे। जैसे ही शिवाजी ने पुरंदर और तोरण जैसे किलों पर अपना अधिकार जमाया, वैसे ही उनके नाम और कर्म की सारे दक्षिण में धूम मच गई, यह खबर आग की तरह आगरा और दिल्ली तक जा पहुंची. अत्याचारी किस्म के तुर्क, यवन और उनके सहायक सभी शासक उनका नाम सुनकर ही मारे डर के चिंतित होने लगे थे.



छत्रपति शिवाजी महाराज का विवाह सन् 14 मई 1640 में सइबाई निम्बालकर के साथ लाल महल, पुना में हुआ था.

भारत के महान वीर योद्धा पोरस जिन्होंने विश्व विजेता सिकंदर को नानी याद दिला दिया

सिकंदर (356 ईपू से 323 ईपू) मेसेडोनिया. का ग्रीक प्रशासक था. वह एलेक्ज़ेंडर तृतीय तथा एलेक्ज़ेंडर मेसेडोनियन नाम से भी जाना जाता है. सिकंदर अपने पिता की मृत्यु के पश्चात अपने सौतेले व चचेरे भाइयों का कत्ल करने के बाद यूनान के मेसेडोनिया के सिन्हासन पर बैठा था. अपनी महत्वाकांक्षा के कारण वह विश्व विजय को निकला. उसकी खास दुश्मनी ईरानियों से थी. सिकंदर ने ईरान के पारसी राजा दारा को पराजित कर दिया और विश्व विजेता कहलाने लगा. यहीं से उसकी भूख बड़ गई. इतिहास में वह कुशल और यशस्वी सेनापतियों में से एक माना गया है. अपनी मृत्यु तक वह उन सभी भूमि मे से लगभग आधी भूमि जीत चुका था. उसने अपने कार्यकाल में इरान, सीरिया, मिस्र, मसोपोटेमिया, फिनीशिया, जुदेआ, गाझा, बॅक्ट्रिया तक के प्रदेश पर विजय प्राप्त की थी  लेकिन भारत के महान राजा पोरस ने उसे पराजित कर दिया.

22 October 2021

NPCI ने कार्ड टोकनाइजेशन प्लेटफॉर्म 'NTS' लॉन्च किया

ग्राहकों के वित्तीय डेटा को सुरक्षित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा हाल ही में जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप, नेशनल पेमेन्टस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने बुधवार को रुपे कार्ड के टोकन के विकल्प के रूप में समर्थन करने के लिए व्यापारियों के साथ कार्ड विवरण संग्रहित करना एनपीसीआई टोकनाइजेशन (एनटीएस) लॉन्च किया है. 
एनटीएस ग्राहकों की सुरक्षा को और बढ़ाएगा और उपभोक्ताओं को खरीदारी

ऑस्ट्रेलिया के जेम्स पैटिनसन ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से लिया सन्यास

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जेम्स पैटिनसन ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया क्योंकि उन्हें लगता है कि फिटनेस से जुड़े मसलों के कारण वह एशेज सीरीज में नहीं खेल पाएंगे. पैटिनसन अभी 31 वर्ष के हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 21 टेस्ट और 15 वनडे खेले हैं. वह घरेलू क्रिकेट में विक्टोरिया की तरफ से खेलना जारी रखेंगे. 
पैटिनसन हाल में विक्टोरिया के ट्रायल मैच में चोटिल हो गए थे. उनके घुटने में चोट लगी है.

प्रथम अश्वेत अमेरिकी विदेश मंत्री कॉलिन पॉवेल का निधन

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री कॉलिन पॉवेल (Colin Powell) का सोमवार को कोरोना के कारण निधन हो गया है. वह 84 वर्ष के थे. वे 2001 में राज्य सचिव के रूप में राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू. बुश (George W. Bush) के प्रशासन में शामिल हुए. वह विश्व मंच पर अमेरिकी सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले अश्वेत व्यक्ति थे. इसके अलावा वह ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के चेयरमैन भी रह चुके थे. 
बता दें की ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ (Joint Chiefs Of Staff) के चेयरमैन रहे कॉलिन पॉवेल को बुश प्रशासन के दौरान अमेरिकी विदेश मंत्री बनने का अवसर मिला था. विदेश मंत्री के पद पर रहते हुए उन्होंने अमेरिका के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए. 

19 October 2021

ईद-ए-मिलाद: मुहम्मद पैगम्बर का जन्मदिन

मुस्लिम धर्म के प्रवर्तक हजरत मोहम्मद माने जाते हैं, जिन्होंने अपनी धार्मिक सहिष्णुता एवं श्रेष्ठ चारित्रिक गुणों से इस धर्म को एक महान् धर्म के रूप में प्रतिष्ठित किया था. मानवीय आधार पर इस धर्म की स्थापना करके उन्होंने आपसी सदभाव और मैत्री का सन्देश दिया था. सभी मनुष्यो को ईश्वर की सन्तान बताते हुए उन्होंने धार्मिक सदभाव व एकता का पाठ पढ़ाया. उनका जन्म व मृत्यु 571-632 ईसा के बीच मानी जाती है. अरब देश के काबा नामक शहर में हजरत मोहम्मद साहब का जन्म हुआ था. उनके पिता हजरत अब्दुल्लाह और माता बीबी आमना थीं. ये लोग कौरेश नाम के घरानों से थे. जब वे दो महीने के थे, तो उनके पिता का देहावसान हो गया था और उनकी माता भी कुछ ही दिनों में चल बसी थीं. उनका लालन-पालन दादा हजरत अब्दुल मुत्तलिक ने किया. कुछ दिनों बाद उनका भी इंतकाल हो गया. अपने इंतकाल से पहले मोहम्मद साहब की जिम्मेदारी उनके चाचा अबू तालीब को सौंप दी, जिन्होंने बड़े ही प्रेम और चाव से उनकी देखभाल की.

18 October 2021

भारत के तीन राज्यों में BSF के अधिकार क्षेत्र का विस्तार

गृह मंत्रालय ने पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम राज्य में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के अंदर सीमा सुरक्षा बल (BSF) के अधिकार क्षेत्र को 15 किमी से बढ़ाकर 50 किमी करने का निर्णय लिया है. यह निर्णय "परिचालन दक्षता में सुधार" और "तस्करी रैकेट पर नकेल कसने" के लिए लिया गया है. 
गृह मंत्रालय ने 11 अक्टूबर, 2021 को जारी एक गजट अधिसूचना में यह कहा है कि, वह उन राज्यों में अपनी शक्तियों का प्रयोग करने के लिए BSF के अधिकार क्षेत्र पर वर्ष, 2014 की अधिसूचना में संशोधन कर रहा है जहां यह अंतर्राष्ट्रीय सीमा की रक्षा करता है. BSF का अधिकार क्षेत्र अब पंजाब, असम और पश्चिम बंगाल में 35 किमी तक बढ़ा दिया गया है और गुजरात में यह अधिकार क्षेत्र 30 किमी कम कर दिया गया है.

WHO ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति की पहचान के लिए बनाया वैज्ञानिक सलाहकार समूह

13 अक्टूबर, 2021 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने नोवेल पैथोजेन्स (SAGO) की उत्पत्ति पर अपने नये वैज्ञानिक सलाहकार समूह के लिए 26 विशेषज्ञों के नाम दिए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा गठित इस समूह में ऐसे कई प्रतिनिधि शामिल हैं जिन्होंने SARS-CoV-2 कोरोना वायरस के स्रोत की जांच करने के लिए चीन के वुहान में संबद्ध मिशन पर काम किया है. 
WHO के एक बयान में 26 प्रस्तावित सदस्यों को सार्वजनिक परामर्श की दो सप्ताह की अवधि से पहले नामित किया है, जिसमें थिया फिशर, मैरियन कोपमैन, हंग गुयेन और चीनी पशु स्वास्थ्य विशेषज्ञ यांग युंगुई शामिल हैं, जिन्होंने वर्ष, 2021 में हुई इससे पहले की संयुक्त जांच में भी भाग लिया था.

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत 116 देशों में 101वें स्थान पर

ग्लोबल हंगर इंडेक्स ने भारत को कुल 116 देशों में से 101वें स्थान पर रखा है. भारत भी उन 31 देशों में शामिल है जहां भूख की समस्या को काफी गंभीर रूप में पहचाना गया है. पिछले साल जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स (GHI) में कुल 107 देशों में से भारत 94वें स्थान पर था. 
इस ग्लोबल हंगर इंडेक्स के मुताबिक, केवल 15 देशों की स्थिति ही भारत से बदतर है. इनमें पापुआ न्यू गिनी (102), अफगानिस्तान (103), नाइजीरिया (103), कांगो (105), मोजाम्बिक (106), सिएरा लियोन (106), तिमोर-लेस्ते (108), हैती (109), लाइबेरिया (110)), मेडागास्कर (111), कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (112), चाड (113), मध्य अफ्रीकी गणराज्य (114), यमन (115) और सोमालिया (116) के नाम शामिल हैं.

महेंद्र सिंह धोनी ने रचा इतिहास, टी20 में 300 मैचों में कप्तानी करने वाले पहले खिलाड़ी बने

महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फाइनल में 15 अक्टूबर 2021 को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के खिलाफ टॉस के लिये उतरते ही एक विशिष्ट रिकार्ड अपने नाम पर जोड़ा. वे क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी20 में 300 मैचों में कप्तानी करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गये हैं. 
धोनी ने साल 2006 में टी20 में पदार्पण किया और साल 2007 से वह भारत तथा आईपीएल में कप्तानी का जिम्मा संभाल रहे हैं. उन्होंने आईपीएल फाइनल से पहले जिन 299 मैचों में कप्तानी की उनमें उन्होंने 176 में जीत दर्ज की जबकि 118 मैच में उन्हें हार मिली. दो मैच टाई समाप्त हुए और तीन मैचों का परिणाम नहीं निकला.

08 October 2021

RBI Monetary Policy: RBI ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने 08 अक्टूबर 2021 को मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक में रेपो रेट में कोई भी बदलाव नहीं करने का फैसला लिया है. केंद्रीय बैंक ने लगातार 8वीं बार नीतिगत ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. उन्होंने कहा कि समिति ने सर्वसम्मति से नीतिगत दरों को यथावत रखने का फैसला किया है. 
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने 08 अक्टूबर को तीन दिवसीय बैठक के बाद कहा कि आरबीआई ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है. बता दें कि रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने आखिरी बार 22 मई 2020 को रेपो दर में बदलाव किया था.

Nobel Peace Prize 2021: मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को मिला नोबेल शांति पुरस्कार

विश्वभर के अलग-अलग क्षेत्रों में बेहतरीन काम के लिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की जा रही है. फिलीपीन्‍स की पत्रकार मारिया रेसा और रूस के दमित्री मुराटोव को साल 2021 के लिए शांति का नोबेल पुरस्‍कार दिया गया है. नोबेल पुरस्कार हर साल 10 दिसंबर को प्रदान किए जाते हैं. 
नोबेल कमिटी ने कहा कि अभिव्‍यक्ति की आजादी के लिए दोनों के प्रयासों को देखते हुए यह पुरस्‍कार दिया गया है. अभिव्‍यक्ति की आजादी किसी लोकतंत्र के लिए एक महत्‍वपूर्ण पूर्व शर्त है. नोबेल कमिटी ने दोनों के प्रयासों की सराहना की. बता दें कि कुल 329 उम्मीदवारों में से मारिया रेसा और दिमित्री मुराटोव को नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए चुना गया है. नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाले को अब 1.1 मिलियन डॉलर की इनामी राशि दी जाएगी.

इस साल भारत की 28 कंपनियां हुईं यूनिकॉर्न क्लब में शामिल

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को यह कहा है कि, भारतीय अर्थव्यवस्था में इस साल सरकार द्वारा शुरू किए गए सुधारों की एक श्रृंखला के आधार पर 28 यूनिकॉर्न कंपनियां या स्टार्टअप्स शामिल हुए हैं जिनका मूल्य 01 बिलियन डॉलर से अधिक है. 
भारतीय निजी इक्विटी और वेंचर कैपिटल एसोसिएशन (IVCA) द्वारा आयोजित एक आभासी सम्मेलन को संबोधित करते हुए, वित्त मंत्री, भारत सरकार ने यह कहा है कि, भारतीय अर्थव्यवस्था ने पिछले दो दशकों में स्टार्टअप कंपनियों में अभूतपूर्व वृद्धि देखी है.

13 September 2021

उत्तराखंड के राज्यपाल बनाए गए गुरमीत सिंह, बनवारीलाल पुरोहित पंजाब के राज्यपाल नियुक्त

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्या का इस्तीफा 09 सितंबर 2021 को स्वीकार कर लिया. लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह को उत्तराखंड के गवर्नर की कमान सौंप दी है. लेफ्टिनेंट जनरल सिंह राज्य के आठवें राज्यपाल होंगे. प्रथम राज्यपाल सुरजीत सिंह बरनाला के बाद लेफ्टिनेंट जनरल सिंह प्रदेश के दसूरे सिख राज्यपाल हैं. 
गौरतलब है कि बेबी रानी मौर्य ने 08 सितंबर 2021 को अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को सौंप दिया था. इसके बाद से ही नए राज्यपाल के नाम को लेकर चर्चाएं हो रही थीं. बेबी रानी मौर्य ने 28 अगस्त 2018 को उत्तराखंड के राज्यपाल की जिम्मेदारी संभाली थी. 3 साल से अधिक का समय गुजारने के बाद राज्यपाल बेबी रानी मौर्य अपने पद से इस्तीफा दिया.

नोएडा के DM सुहास एलवाई बने पैरालंपिक पदक जीतने वाले पहले IAS अधिकारी

नोएडा के जिला मजिस्ट्रेट सुहास एलवाई टोक्यो 2020 पैरालिंपिक खेलों में बैडमिंटन का पदक जीतने वाले पहले IAS अधिकारी बन गये हैं. 38 वर्षीय सुहास एलवाई ने 05 सितंबर, 2021 को पुरुष एकल SL4 वर्ग में भारत के लिए रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया है. यातिराज शीर्ष वरीयता प्राप्त और फ्रांस के विश्व चैंपियन लुकास मजूर के बाद दूसरे स्थान पर रहे. सुहास के एक टखने में खराबी है. 
सुहास फाइनल में लुकास मजूर के खिलाफ 21-15, 17-21, 15-21 से दूसरे स्थान पर रहे. सुहास, जो वर्तमान में SL4 श्रेणी में विश्व नंबर 03 पर हैं, ने 62 मिनट के शिखर संघर्ष में अगले दो सेटों में मजूर से हारने से पहले अपना पहला सेट जीता था.

उत्तर कोरिया ने लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया

उत्तर कोरिया ने नई विकसित लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया है. अमेरिका से तनाव के बीच उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन ने लंबी दूरी तक मार करने वाली क्रूज मिसाइल का परीक्षण कर अन्य बड़े देशों को अपनी ताकत का एहसास करा दिया है. इस परीक्षण की जानकारी उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने दी है. 
बता दें कि ये परीक्षण ऐसे समय में किए गए हैं, जब अमेरिका के साथ चल रहे उत्तरी कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर जाती गतिरोध खत्म होने की भी संभावना नजर नहीं आ रही है. उत्तर कोरिया की खराब रणनीतिक व्यवस्था और बढ़ रही भुखमरी के बीच हथियारों को लेकर उत्तर कोरिया की भूख बढ़ती जा रही है.

भूपेंद्र पटेल ने गुजरात के सीएम पद की शपथ ली

बीजेपी विधायक भूपेंद्र पटेल 13 सितंबर 2021 को गुजरात के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. समारोह में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत समेत बीजेपी के तमाम नेता शामिल हुए. मध्य प्रदेश, गोवा, हरियाणा के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए. घाटलोदिया के विधायक भूपेंद्र पटेल ने राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है. 
पटेल समुदाय में उनकी मजबूत पकड़ मानी जाती है. अहमदाबाद के शिलाज क्षेत्र के निवासी भूपेंद्र पटेल ने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है.

09 September 2021

विश्व साक्षरता दिवस

पूरे विश्व में साक्षरता दिवस 08 सितंबर को मनाया जाता है. विश्व में शिक्षा के महत्व को दर्शाने और निरक्षरता को समाप्त करने के उद्देश्य से प्रत्येक साल 08 सितंबर को विश्व साक्षरता दिवस मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य समाज में लोगों के प्रति शिक्षा को प्राथमिकता देने को बढ़ावा देना है. 
विश्व साक्षरता दिवस के दिन लोग एक-दूसरे को इस खास दिन की बधाई देते हैं. इस दिन शिक्षा और उसकी भूमिका के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है कि कैसे यह व्यक्ति, समुदाय और समाज को लाभान्वित कर सकता है. यह दिवस बदलती शिक्षा के दौर में शिक्षकों की भूमिका को सबसे आगे लाने की कोशिश करता है.

तालिबान ने अफगानिस्तान में कार्यवाहक सरकार का ऐलान किया

तालिबान ने अफगानिस्तान में नई सरकार की घोषणा कर दी है, लेकिन ये एक "कार्यवाहक सरकार" होगी. मुल्ला हसन अखुंद अफगानिस्तान में तालिबान की नई सरकार का नेतृत्व करेंगे. तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने 07 सितंबर को शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नई कार्यवाहक सरकार की घोषणा की. 
तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि तालिबान के संस्थापकों में से एक मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद सरकार के मुखिया यानी प्रधानमंत्री होंगे और मुल्ला अब्दुल ग़नी बरादर उप प्रधानमंत्री होंगे. मुल्ला अब्दुल ग़नी बरादर तालिबान के सह संस्थापक हैं.

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने दिया इस्तीफा

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने 08 सितंबर 2021 को पद से इस्तीफा दे दिया है. राजभवन के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि राज्यपाल ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेज दिया है. उन्होंने बताया कि राज्यपाल ने व्यक्तिगत कारणों के चलते इस्तीफा दिया है. 
बेबी रानी मौर्य दो दिन पहले नई दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलीं थीं. बेबी रानी के इस्तीफे के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि उनको यूपी में बीजेपी कोई बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है. इस इस्तीफे के साथ ही राज्य का आठवें राज्यपाल को लेकर इंतजार बढ़ गया है. उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं. कयास ये भी हैं कि उत्तर प्रदेश की सियासत में वह सक्रिय भूमिका निभा सकती हैं. भाजपा चुनाव के मद्देनजर उन्हें नई जिम्मेदारी सौंप सकती है.

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाड़मेर में नेशनल हाईवे पर इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड (ELF) का उद्घाटन किया

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राजस्थान के बाड़मेर के गंधव-बाखासर खंड में नेशनल हाईवे-925 पर बने 'इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड (ELF)' का 09 सितंबर 2021 को उद्घाटन किया. इसके बाद भारत ने पाकिस्तान से सटी सीमा पर अपना शक्ति प्रदर्शन किया और हाईवे पर लड़ाकू विमानों की लैंडिंग की. 
पाकिस्तान सीमा से केवल 40 किलोमीटर दूरी पर भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के सुखोई और जगुआर जैसे लड़ाकू विमानों ने अपना दम दिखाया. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारतीय वायुसेना के स्पेशल विमान से यहां पहुंचे थे, जिसकी लैंडिंग इसी एयर स्ट्रिप पर की गई थी.

17 August 2021

बीसीईसीईबी में पारा मेडिकल और पॉलिटेक्निक में एडमिशन के लिए आवेदन प्रारंभ

बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीईसीईबी) ने पारा मेडिकल व पॉलिटेक्निक में नामांकन के लिए आवेदन करने की तिथि जारी कर दी है. छात्र पारा मेडिकल (इंटरमीडिएट स्तरीय), पारा मेडिकल (माध्यमिक स्तरीय), पॉलिटेक्निक, पार्ट टाइम (चार वर्षीय पॉलिटेक्निक) में नामांकन के लिए www.bceceboard.bihar.gov.in पर 14 अगस्त से चार सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं. फॉर्म भरने के बाद छात्र त्रुटियों में आठ से 10 सितंबर तक सुधार कर सकते

अफगानिस्तान पर फिर तालिबान का कब्जा, अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी ने छोड़ा देश

तालिबान ने फिर अफगानिस्तान पर कब्जा जमा लिया है. तालिबान के आतंकियों ने काबुल की घेराबंदी कर ली और जब काबुल में घुसे अफगानिस्तान की फौज ने सरेंडर कर दिया. इसके बाद सरकार और तालिबान के प्रतिनिधियों के बीच बातचीत हुई और राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर चले गए. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश से ताजिकिस्तान के लिए रवाना हो गए हैं. 
राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ एनएसए हमदुल्लाह मोहिब समेत कई दूसरे नेताओं ने भी देश छोड़ दिया है. राष्ट्रपति अशरफ गनी के देश छोड़ने के कुछ ही घंटों बाद तालिबान ने काबुल में अफगान राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया है. तालिबान ने यह भी कहा है कि अफगानिस्तान में सत्ता हस्तांतरण के लिए कोई भी अंतरिम सरकार नहीं बनाई जाएगी.

पीएम मोदी ने लगातार 8वीं बार लाल किले की प्राचीर से फहराया तिरंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2021 को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लगातार आठवीं बार लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया है. धवजारोहण के समय 21 तोपों की सलामी भी दी गई. इस दौरान टोक्यो ओलिंपिक में भाग लेने वाले 32 खिलाड़ियों और भारतीय खेल प्राधिकरण के दो अधिकारियों को लाल किले में आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया. 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास, इसी श्रद्धा के साथ हम सब जुटे हुए हैं. धवजारोहण के समय थलसेना, वायुसेना, नौसेना और दिल्ली पुलिस की अलग-अलग टुकड़ियों ने राष्ट्र-सैल्यूट दिया. इससे पहले प्रधानमंत्री राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचे हैं और बापू को भी नमन किया है.

14 August 2021

भारत सरकार ने 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च की

भारत सरकार ने 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए एक नई वेबसाइट https://indianidc2021.mod.gov.in/ की घोषणा की है. 
भारत में 15 अगस्त के दिन मनाये जाने वाले स्वतंत्रता दिवस 2021 समारोह को मनाने के लिए रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार ने 3अगस्त, 2021 को वेबसाइट लॉन्च की थी. भारत सरकार द्वारा लॉन्च की गई यह वेबसाइट राष्ट्रीय उत्सव के समारोहों में दुनिया भर में भारतीयों को जोड़ने के लिए एक मंच के तौर पर काम करेगी. यह स्वतंत्रता दिवस समारोह मंच सभी के लिए सुलभ होगा और भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस से संबंधित सभी गतिविधियों के बारे में अपडेट और जानकारी प्रदान करेगा.

10 August 2021

प्रसिद्ध अभिनेता अनुपम श्याम का निधन

छोटे एवं बड़े पर्दे के मशहूर कलाकार अनुपम श्याम  का 08 अगस्त 2021 को निधन हो गया है. वे 63 साल के थे. उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. अनुपम श्याम ओझा पिछले साल से किडनी की बीमारी से जूझ रहे थे. अनुपम श्याम आईसीयू में थे और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. 
दिग्गज अभिनेता के निधन पर टेलीविजल इंडस्ट्री में शोक की लहर है. अनुपम श्याम के ठीक होने के बाद उनकी नियमित रूप से डायलिसिस करवाई जा रही थी. इस साल यानी 2021 में टीवी सीरियल 'मन की आवाज प्रतिज्ञा' के सीजन 2 लॉन्च होने पर वह काम पर वापस आ गए थे.

बीआरओ ने रचा इतिहास, पूर्वी लद्दाख में किया दुनिया के सबसे ऊंचे स्थान पर सड़क का निर्माण

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने पूर्वी लद्दाख में उमलिंगला दर्रे के पास 19,300 फुट से अधिक की ऊंचाई पर मोटर वाहन चलने योग्य सड़क का निर्माण कर विश्व में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. उमलिंगला दर्रे से होकर गुजरने वाली 52 किलोमीटर लंबी यह सड़क तारकोल से बनाई गई है और इसने बोलीविया की सबसे ऊंची सड़क के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. 
सड़क निर्माण करने वाली इस एजेंसी ने इस हफ्ते की शुरुआत में यह उपलब्धि हासिल की है. बीआरओ को भारत की उत्तरी सीमाओं के साथ सबसे दुर्गम इलाकों में सड़कें बनाने में विशेषज्ञता हासिल है. इस सड़क का निर्माण कर बीआरओ ने ऊँचाई पर स्थित सड़कों के निर्माण में कीर्तिमान स्थापित किया है.

भारत में कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री दक्ष पोर्टल और मोबाइल ऐप का शुभारंभ

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉवीरेंद्र कुमार ने 07 अगस्त, 2021 को कौशल विकास योजनाओं को लक्षित समूहों के लिए सुलभ बनाने के लिए प्रधानमंत्री दक्ष पोर्टल और प्रधानमंत्री दक्ष मोबाइल ऐप लॉन्च किया. 
इस ऐप को राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन (NEGD) के सहयोग से सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा विकसित किया गया है. इस प्रधानमंत्री-दक्ष योजना के तहत इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों को कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के साथ ही अन्य विश्वसनीय संस्थानों द्वारा गठित सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों, क्षेत्रीय कौशल परिषदों के माध्यम से लागू किया जाएगा.

पीएम मोदी ने रचा इतिहास, UNSC की एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में 09 अगस्त 2021 को इतिहास रच दिया. जब पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की एक उच्चस्तरीय खुली परिचर्चा की अध्यक्षता की तो वह ऐसा करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं.
 मोदी ने कहा है कि विभिन्‍न देशों के बीच समुद्री व्यापार की बाधाओं को दूर किए जाने की जरूरत है. उन्‍होंने यह बात संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की डिबेट में अपने संबोधन के दौरान कही. पीएम मोदी ने कहा समंदर हमारी साझा धरोहर है. प्रधानमंत्री ने कहा कि इस व्‍यापक संदर्भ में अपनी साझा सामुद्रिक धरोहर

भारतीय रिजर्व बैंक ने मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा की

भारतीय रिजर्व बैंक ने  द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में प्रमुख नीतिगत दर रेपो में कोई बदलाव नहीं किया और इसे 4 प्रतिशत पर बरकरार रखा. वहीं केन्द्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष के दौरान अर्थव्यवस्था में 7.5 प्रतिशत गिरावट आने का नया अनुमान व्यक्त किया है. इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिये उदार रुख को कायम रखते हुए कहा है कि कोविड-19 से प्रभावित अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये वह आगे भी नीतिगत दर में कटौती समेत हर संभव कदम उठाएगा.

मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की निर्णय की जानकारी देते हुए आरबीआई के

04 August 2021

पीएम मोदी ने डिजिटल भुगतान समाधान e-RUPI को लॉन्च किया

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 02 अगस्त, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डिजिटल भुगतान समाधान को बढ़ावा देने वाला एक इलेक्ट्रॉनिक वाउचर e-RUPI लॉन्च किया है. 
प्रधानमंत्री ने यह कहा कि, e-RUPI इस बात का उदाहरण है कि, कैसे भारत 21वीं सदी में उन्नत तकनीक की मदद से आगे बढ़ रहा है और लोगों को आपस में जोड़ रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि, उन्हें खुशी है कि इसकी शुरुआत उस साल हुई है, जब भारत अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे यह कहा कि, इस e-RUPI का उपयोग न केवल सरकार द्वारा बल्कि किसी भी ऐसे गैर-सरकारी संगठन द्वारा भी किया जा सकता है जो शिक्षा या चिकित्सा उपचार में किसी

संसद ने दिवाला और दिवालियापन संहिता (संशोधन) विधेयक, 2021 को मंजूरी दी

संसद ने 03 अगस्त 2021 को दिवाला और दिवालियापन संहिता (संशोधन) विधेयक, 2021 पारित किया. लोकसभा ने 28 जुलाई 2021 को विधेयक पारित किया था. केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने दिवालिया कानून में संशोधन करने वाले अध्यादेश को बदलने के लिए इस विधेयक को लोकसभा में पेश किया था. 
दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता संशोधन अध्यादेश, 2021, चार अप्रैल 2021 से प्रभावी हो गया था. इसके तहत छोटे और मझोले इकाई के तहत आने वाले कर्जदार कारोबारियों को पहले से तैयार व्यवस्था (प्री पैकेज्ड) के तहत दिवाला निपटान प्रक्रिया की सुविधा मिल गई है.

03 August 2021

भुवनेश्वर COVID-19 के खिलाफ 100% टीकाकरण करने वाला पहला भारतीय शहर बना

ओडिशा का भुवनेश्वर शहर 100% लोगों का टीकाकरण करने वाला देश का पहला शहर बन गया है. इसके अलावा, लगभग एक लाख प्रवासी कामगारों को भी भुवनेश्वर में कोरोना की पहली खुराक दी गई है. इंडिया टुडे टीवी से बात करते हुए, भुवनेश्वर नगर निगम के दक्षिण-पूर्व क्षेत्रीय उपायुक्त अंशुमान रथ ने कहा, 'भुवनेश्वर में 100 प्रतिशत आबादी को कोविड-19 के खिलाफ टीका लगाया गया है. इसके साथ ही शहर के एक लाख प्रवासी कामगारों को भी कोरोना का पहला टीका लगाया जा चुका है.' उन्होंने कहा कि भुवनेश्वर नगर निगम ने 31 जुलाई तक सभी शहरवासियों को कोरोना का टीका लगाने

मर्सेल जैकब्स ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुषों की 100 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता

इटली (Italy's) के लेमंट मर्सेल जैकब्स (Lamont Marcell Jacobs) ने पुरुषों के 100 मीटर में एक चौंकाने वाले ओलंपिक स्वर्ण का दावा करने के लिए असामान्य संदिग्धों के क्षेत्र को पीछे छोड़ दिया, जिससे सेवानिवृत्त जमैका (Jamaican) स्टार उसैन बोल्ट (Usain Bolt's) की ब्लू-रिबैंड इवेंट (blue-riband event) पर 13 साल की पकड़ टूट गई. अमेरिकी (American) फ्रेड कर्ली (Fred Kerley) ने 9.84 के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ में रजत पदक जीता, जिसमें कनाडा (Canada's) के आंद्रे डे ग्रास ​(Andre de Grasse) ने 2016 के अपने कांस्य को 9.89 में दोहराया, जो एक नया सर्वश्रेष्ठ भी था.

अलेक्जेंडर ज्वेरिव ने जीता टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुष एकल टेनिस में स्वर्ण पदक

जर्मनी के चौथी वरीयता प्राप्त एलेक्सजेंडर ज्वेरेव ने टोक्यो ओलंपिक 2020 का पुरुष एकल टेनिस खिताब अपने नाम कर लिया है. सेमीफाइनल में वर्ल्ड नम्बर-1 सर्बिया के नोवाक जोकोविच को हराने वाले ज्वेरेव ने स्वर्ण पदक के मुकाबले में रूस के 12वीं वरीयता प्राप्त खिलाड़ी केरेन खाचानोव को बेहद एकतरफा तरीके से 6-3, 6-1 से सीधे सेटों में हराया.

यह मुकाबला 1 घंटा 19 मिनट चला, जिसमें केरेन कहीं भी 2020 यूएस ओपन फाइनलिस्ट ज्वेरेव के सामने टिकते नजर नहीं आए. गोल्ड मेडल ज्वेरेव के करियर का सबसे चमकता सितारा होगा. वह 2018 में एटीपी फाइनल्स औ्र चार मास्टर्स खिताब जीत चुके हैं. इससे पहले, स्पेन के पाब्लो बुस्ता केरेनो ने वर्ल्ड नम्बर-1 सर्बिया के नोवाक जोकोविच को हराकर पुरुष एकल का कांस्य जीता था.

24 July 2021

गुरु पूर्णिमा

गुरू पूर्णिमा उन सभी आध्यात्मिक और अकादमिक गुरूजनों को समर्पित परम्परा है जिन्होंने कर्म योग आधारित व्यक्तित्व विकास और प्रबुद्ध करने, बहुत कम अथवा बिना किसी मौद्रिक खर्चे के अपनी बुद्धिमता को साझा करने के लिए तैयार हों. इसको भारत, नेपाल और भूटान में हिन्दू, जैन और बोद्ध धर्म के अनुयायी उत्सव के रूप में मनाते हैं. यह पर्व हिन्दू, बोद्ध और जैन अपने आध्यात्मिक शिक्षकों /अधिनायकों के सम्मान और उन्हें अपनी कृतज्ञता दिखाने के रूप में मनाया जाता है. यह पर्व हिन्दू पंचांग के हिन्दू माह आषाढ़ की पूर्णिमा (जून-जुलाई) मनाया जाता है. इस उत्सव को महात्मा गांधी ने अपने आध्यात्मिक गुरू श्रीमद राजचन्द्र सम्मान देने के लिए पुनर्जीवित किया. ऐसा भी माना जाता है कि व्यास पूर्णिमा वेदव्यास के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है.

नैनीताल बैंक में क्लर्क और मैनेजमेंट ट्रेनी के 150 पदों पर भर्ती

नैनीताल बैंक ने क्लर्क और मैनेजमेंट ट्रेनी के पदों पर 150 वैकेंसी निकाली है. कुल 150 वैकेंसी में से 75 रिक्तियां क्लर्क के पद के लिए और 75 मैनेजमेंट ट्रेनी के पदों के लिए हैं. उम्मीदवार 31 जुलाई 2021 तक nainitalbank.co.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. 
दोनों पदों के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष है. मैनेजमेंट पद के लिए ऊपरी आयु सीमा 27 वर्ष और क्लर्क के लिए 28 वर्ष है. आयु की गणना 31 मार्च 2021 से की जाएगी.

भारत की सबसे बड़ी तेल कंपनी IOC मथुरा रिफाइनरी में देश का पहला 'ग्रीन हाइड्रोजन' प्लांट बनाएगा स्थापित करेगा

भारत की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) अपनी मथुरा रिफाइनरी में देश का पहला 'ग्रीन हाइड्रोजन' प्लांट बनाएगा. इस कदम का उद्देश्य भविष्य में तेल और ऊर्जा के स्वच्छ रूपों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए तैयार करना है. 
इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन कार्बन कैप्चर, यूटिलाइजेशन, और स्टोरेज टेक्नोलॉजी-स्पेस पर अनुसंधान को आगे बढ़ा रहा है, जहां वह अपने पेरिस जलवायु लक्ष्यों को पूरा करने के लिए वैश्विक सहयोग का प्रयास कर रहा है.

DRDO ने नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल का सफल परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने 21 जुलाई 2021 को अपने देश में विकसित कम वजन वाला और नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) एक सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया. डीआरडीओ ने यह परीक्षण लगभग 12:45 बजे एक लैंड बेस्ड प्लैटफॉर्म से किया. 
इस दौरान मल्टीफंक्शन रडार, कमांड, कंट्रोल एंड कम्युनिकेशन सिस्टम और लॉन्चर जैसे सारे वेपन सिस्टम का इस्तेमाल किया गया. वहीं, डीआरडीओ ने 21 जुलाई 2021 को ही पोर्टेबल एंटि टैंक गाइडेड मिसाइल (MPATGM) का भी सफल परीक्षण किया. परीक्षण के दौरान मिसाइल ने अपने टारगेट को नष्ट कर दिया.

Google ने टोक्यो ओलंपिक 2020 को अपना डूडल समर्पित किया

टोक्यो ओलंपिक 2020 का आगाज 23 जुलाई को हो गया है. इस मौके पर गूगल ने अनोखा, नवोन्मेषी और एनिमेटेड डूडल चैंपियन आइलैंड गेम्स लॉन्च किया है जिसमें सात मिनी गेम्स, लीजेंडरी प्रतिद्वंद्विंयों औऱ दर्जनों प्रतियोगिता को एनिमेटेड रूप में प्रदर्शित किया गया है. 
गूगल ने इस डूडल के माध्यम से यूजर को गेम खेलने का मौका दिया है. गूगल ने इसका नाम डूडल चैंपियन आइलैंड गेम्स रखा है. इसमें यूजर रियल टाइम लीडरबोर्ड के साथ नींजा कैट गेम खेल सकता है. यूजर चार टीम ब्ल्यू, ग्रीन, येलो और रेड के साथ गेम खेल सकता है. जिन सात मिनी गेम्स को दिखाया गया हैं, वे टेबल टेनिस, स्केटबॉर्डिंग, तीरंदाजी, रग्बी, तैराकी, क्लाइंबिंग और मैराथन हैं.

20 July 2021

सुप्रीम कोर्ट ने कॉमन लॉ एंट्रेंस एग्‍जाम स्थगित करने से इंकार किया

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को 23 जुलाई को आयोजित होने वाली कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT) 2021 को स्थगित करने से मना कर दिया है. एक एनजीओ द्वारा फाइल की गई एक याचिका पर कोर्ट सुनवाई कर रही थी. याचिकाकर्ता ने याचिका में क्लैट परीक्षा को कोविड-19 की स्थिति नॉर्मल होने या किसी सुरक्षित तरीके से परीक्षा आयोजित कराने का निवेदन किया था. सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि परीक्षा में सभी सुरक्षा उपायों का सख्ती से पालन किया जाए. 
आपको बता दें कि 14 जुलाई को परीक्षा के एडमिट कार्ड भी जारी कर दिए गए हैं. आपको बता दें कि जेईई मेन, एनईईटी सहित कई प्रवेश परीक्षाएं कोविड-19 महामारी के कारण टाल दी गई हैं. यही कारण है कि CLAT के उम्मीदवार भी मांग कर रहे थे कि उनकी परीक्षा स्थगित कर दी जाए.

बिहार बीएड प्रवेश परीक्षा (सीईटी-बीएड 2021) की तिथि घोषित

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति के आदेश से राज्य नोडल अधिकारी प्रो. अशोक कुमार मेहता ने मंगलवार को एक बार फिर राज्यस्तरीय संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा (सीईटी-बीएड 2021) की तिथि घोषित कर दी है. अब यह परीक्षा 11 अगस्त को 11 से एक बजे तक होगी. अभ्यर्थी चार अगस्त से अपना प्रवेश पत्र वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं.

इससे पहले यह परीक्षा 11 जुलाई को होने वाली थी लेकिन राज्य सरकार से विभिन्न

पटना में बनेगा एशिया का पहला राष्ट्रीय डॉल्फिन अनुसंधान केंद्र

भारत और एशिया का पहला राष्ट्रीय डॉल्फिन अनुसंधान केंद्र (NDRC) बिहार राज्य के पटना विश्वविद्यालय परिसर में गंगा नदी के तट पर स्थापित किया जाएगा. मानसून के मौसम के बाद इस केंद्र पर काम शुरू होने की उम्मीद है. 
विशेषज्ञों की टीमों द्वारा गंगा नदी में वर्ष, 2018-19 में किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार, इस नदी में लगभग 1,455 डॉल्फ़िन देखी गईं. इस प्रोजेक्ट डॉल्फ़िन का उद्देश्य देश की नदियों और महासागरों में डॉल्फ़िन का संरक्षण और सुरक्षा करना है. यह परियोजना, विशेष रूप से अवैध शिकार विरोधी गतिविधियों और गणना में आधुनिक तकनीक के उपयोग के माध्यम से डॉल्फ़िन और जलीय आवास के संरक्षण को शामिल करेगी.

नेपाल के नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने विश्वास मत जीता

नेपाल के नवनियुक्त प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने 18 जुलाई 2021 को नेपाली संसद का विश्वास मत हासिल कर लिया. उन्हें 275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में 165 सदस्यों का समर्थन मिला. देउबा को नेपाली सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नियुक्त किया था और एक माह में विश्वास मत साबित करने को कहा था. 
83 सांसदों ने नवगठित सरकार के विरोध में मतदान किया. इस तरह सरकार ने आसानी से संसद में अपना बहुमत साबित कर लिया. संसद की प्रतिनिधि सभा में 275 सदस्य हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देउबा को विश्वास मत हासिल करने पर बधाई दी है.