मासिक करेंट अफेयर्स

04 January 2021

पीएम मोदी ने 6 राज्यों में लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स का किया शिलान्यास

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 जनवरी 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के 6 राज्यों में 6 स्थानों पर लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स (LHP) की आधारशिला रखी. 
भारत के छह राज्यों - उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड और त्रिपुरा में इन परियोजनाओं को ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज (GHTC) के तहत किया जा रहा है. इन सभी छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस शिलान्यास समारोह में हिस्सा लिया. ये लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स देश में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर निर्माण क्षेत्र में नए युग की वैकल्पिक वैश्विक प्रौद्योगिकियों, प्रक्रियाओं और सामग्रियों के सर्वोत्तम उपयोग का प्रदर्शन करेंगे. 

लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स गुजरात में राजकोट, उत्तर प्रदेश में लखनऊ, मध्य प्रदेश में इंदौर, झारखंड में रांची, तमिलनाडु में चेन्नई और त्रिपुरा में अगरतला में शुरू किए जाएंगे. इस परियोजना में संबद्ध अवसंरचना सुविधाओं के साथ प्रत्येक स्थान पर लगभग 1000 घर शामिल होंगे. ये घर पारंपरिक ईंट और मोर्टार निर्माण की तुलना में अधिक किफायती, टिकाऊ, मजबूत और उच्च गुणवत्ता वाले होंगे. इन LHPs का उद्देश्य क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण और इसकी आगे की प्रतिकृति की सुविधा के लिए सजीव प्रयोगशालाओं के तौर पर सेवा करना है. इस प्रक्रिया में उचित नियोजन, डिजाइन, निर्माण कार्य, विभिन्न हिस्सों का उत्पादन और IITs, NITs की फैकल्टी और स्टूडेंट्स के लिए परीक्षण, अन्य इंजीनियरिंग और वास्तुकला कॉलेजों और निजी और सार्वजनिक क्षेत्रों के बिल्डरों को शामिल हैं.

इसके अलावा, प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर पर अफोर्डेबल सस्टेनेबल हाउसिंग एक्सेलेरेटर्स (ASHA) - भारत के तहत विजेताओं के नामों की भी घोषणा की और प्रधानमंत्री आवास योजना - शहरी (PMAY-U) मिशन के कार्यान्वयन में उत्कृष्टता के लिए वार्षिक पुरस्कार प्रदान किए. आशा-भारत का लक्ष्य संभावित भावी प्रौद्योगिकियों को ऊष्मायन और त्वरण सहायता प्रदान करके देशी अनुसंधान और उद्यमिता को बढ़ावा देना है.
इस पहल के तहत, ऊष्मायन और त्वरण सहायता प्रदान करने के लिए पांच आशा-भारत केंद्र स्थापित किए गए हैं. प्रधानमंत्री त्वरण समर्थन के तहत संभावित प्रौद्योगिकी विजेताओं के नामों की घोषणा करेंगे. इस पहल के माध्यम से पहचानी जाने वाली प्रौद्योगिकियां, प्रक्रियाएं और सामग्री युवा रचनात्मक प्रतिभाओं, स्टार्ट-अप्स, इनोवेटर्स और उद्यमियों को काफी प्रोत्साहन प्रदान करेगी.

No comments:

Post a Comment