मासिक करेंट अफेयर्स

26 January 2021

राष्ट्रीय बालिका दिवस

राष्ट्रीय बालिका दिवस  प्रत्येक साल 24 जनवरी को देश भर में मनाया जाता है. इसका उद्देश्य देश की लड़कियों को हर लिहाज से अधिक से अधिक सहायता और सुविधाएं प्रदान करना है. इसके अतिरिक्त, राष्ट्रीय बालिका दिवस का एक अन्य उद्देश्य लड़कियों के साथ होने वाले भेदभाव को लेकर लोगों को जागरूक करना है. 
ऐसा माना जाता है कि हमारे समाज की लड़कियां आज से नहीं बल्कि हमेशा से जीवन के हर मामले में पक्षपात का सामना करती आ रही हैं. राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने के पीछे भारत सरकार का यह कदम युवा लड़कियों के महत्व को बढ़ावा देना है. अब, उन्हें उनके उचित अधिकार देने का समय आ गया है. भारत सरकार ने कई अधिनियम लाए हैं और समाज में समानता लाने हेतु संविधान में कई संशोधन किए हैं.

भारत में हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है. इसकी शुरुआत साल 2008 में महिला और बाल विकास मंत्रालय और भारत सरकार द्वारा की गई थी. समाज में लड़कियों की स्थिति में सुधार लाने हेतु राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है. महिलाओं को अपने घरों, कार्यस्थलों और दैनिक जीवन में कई प्रकार के भेदभाव का सामना करना पड़ता है. सशक्‍त समाज के निर्माण हेतु लड़कियों की बराबर की भागीदारी बेहद जरूरी है. लड़कियों की स्थितियों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए देश भर में कई कार्यक्रम और अभियान चलाए जाते हैं.

भारत सरकार ने एक अभियान के रूप में समाज में समानता लाने हेतु राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत की है. इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देश भर की लड़कियों को जागरूक करना है. साथ ही, इसका उद्देश्य लोगों को यह भी बताना है कि समाज के निर्माण में महिलाओं का समान योगदान है. इस अभियान के अंतर्गत समाज के सभी तबकों के लोगों को शामिल कर उन्‍हें इस बात हेतु जागरूक किया जाता है कि लड़कियों के पास भी फैसले लेने का अधिकार होना चाहिए. राष्ट्रीय बालिका दिवस के तहत ढेरों कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इस आयोजन में लड़की बचाओ अभियान, सही लिंग अनुपात तथा लड़कियों के लिए स्‍वस्‍थ्‍य एवं सुरक्षित माहौल तैयार करने जैसे कार्यक्रम किये जाते है.

No comments:

Post a Comment