मासिक करेंट अफेयर्स

15 June 2021

हार्ड-राइट टेक करोड़पति नफ्ताली बेनेट बने इज़राइल के नए प्रधानमंत्री

13 जून, 2021 को संसद द्वारा एक नई सरकार को मंजूरी देने के बाद, एक करोड़पति पूर्व तकनीकी उद्यमी, जिन्होंने कट्टर धार्मिक-राष्ट्रवादी बयानबाजी के साथ राजनीति में शोहरत हासिल की है, को इज़राइल के नए प्रधान मंत्री के तौर पर चुना गया है. 
नफ़्ताली बेनेट खुले तौर पर धार्मिक जीवन शैली का नेतृत्व करने वाले इज़राइल के पहले प्रधानमंत्री होंगे और धार्मिक यहूदी पुरुषों द्वारा पहनी जाने वाली छोटी टोपी ‘किप्पा’ का समर्थन करने वाले पहले व्यक्ति होंगे.

अमेरिकी माता-पिता की संतान, नफ्ताली बेनेट एक 49 वर्षीय राजनेता और एक पूर्व तकनीकी उद्यमी हैं. नफ्ताली बेनेट ने नेतन्याहू के साथ वर्ष, 2006 और वर्ष, 2008 के बीच एक वरिष्ठ सहयोगी के तौर पर काम किया था. हालांकि, उनके साथ संबंधों में खटास आने के बाद, उन्होंने नेतन्याहू की लिकुड पार्टी छोड़ दी थी. उन्होंने खुद को दक्षिणपंथी राष्ट्रीय-धार्मिक यहूदी होम पार्टी के साथ जोड़ लिया था और वर्ष, 2013 में इसके प्रतिनिधि के तौर पर संसद में प्रवेश किया था.

नफ्ताली बेनेट को यहूदी राष्ट्र-राज्य के लिए एक मजबूत अधिवक्ता होने के साथ-साथ वेस्ट बैंक, गोलन हाइट्स और पूर्वी यरुशलम में यहूदी धार्मिक और ऐतिहासिक दावों पर जोर देने के लिए जाना जाता है. बेनेट येशा काउंसिल के प्रमुख भी रह चुके हैं. वे वेस्ट बैंक में बसने वाले यहूदियों के अधिकारों के लंबे समय से पैरोकार रहे हैं. हालांकि, उन्होंने गाजा पर इजरायल के दावों की कभी वकालत नहीं की है. उन्होंने फिलिस्तीनी स्वतंत्रता का कड़ा विरोध किया है और कब्जे वाले वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम में यहूदी बस्तियों का समर्थन किया है. वर्ष, 2013 में, फिलिस्तीन के खिलाफ टिप्पणियों की एक श्रृंखला में, बेनेट ने यह कहा था कि, फिलिस्तीनी आतंकवादियों को मार दिया जाना चाहिए और रिहा नहीं किया जाना चाहिए.

No comments:

Post a Comment