मासिक करेंट अफेयर्स

04 August 2021

पीएम मोदी ने डिजिटल भुगतान समाधान e-RUPI को लॉन्च किया

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 02 अगस्त, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डिजिटल भुगतान समाधान को बढ़ावा देने वाला एक इलेक्ट्रॉनिक वाउचर e-RUPI लॉन्च किया है. 
प्रधानमंत्री ने यह कहा कि, e-RUPI इस बात का उदाहरण है कि, कैसे भारत 21वीं सदी में उन्नत तकनीक की मदद से आगे बढ़ रहा है और लोगों को आपस में जोड़ रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि, उन्हें खुशी है कि इसकी शुरुआत उस साल हुई है, जब भारत अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे यह कहा कि, इस e-RUPI का उपयोग न केवल सरकार द्वारा बल्कि किसी भी ऐसे गैर-सरकारी संगठन द्वारा भी किया जा सकता है जो शिक्षा या चिकित्सा उपचार में किसी व्यक्ति या संस्था का समर्थन करना चाहता है. इस प्रीपेड इलेक्ट्रॉनिक वाउचर का उद्देश्य प्रधानमंत्री मोदी के सुशासन और डिजिटल इंडिया के निर्माण के दृष्टिकोण को आगे ले जाना है.

e-RUPI डिजिटल भुगतान के लिए एक प्रीपेड, कैशलेस और संपर्क रहित साधन है. यह एक क्यूआर कोड या SMS स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर है, जिसे लाभार्थियों के मोबाइल पर भेजा जा सकता है. यह एक निर्बाध एकमुश्त भुगतान तंत्र है. इस e-RUPI के उपयोगकर्ता कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग या डिजिटल भुगतान ऐप का उपयोग किए बिना इलेक्ट्रॉनिक वाउचर को सेवा प्रदाता पर भुना सकते हैं. यह e-RUPI देश की विभिन्न सेवाओं के प्रायोजकों को, बिना किसी भौतिक इंटरफेस के, डिजिटल तरीके से लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं से जोड़ेगा.

इस e-RUPI से एक क्रांतिकारी पहल होने की उम्मीद जताई जा रही है क्योंकि, यह साधन कल्याणकारी सेवाओं की लीक-प्रूफ डिलीवरी सुनिश्चित करेगा. यह आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना जैसी योजनाओं के तहत, विभिन्न मातृ एवं बाल कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों और दवाओं और निदान के तहत दवाएं और पोषण सहायता प्रदान करने के लिए जारी योजनाओं के तहत, विभिन्न सेवाएं देने के लिए भी उपयोगी होगा.

e-RUPI को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया ने अपने UPI प्लेटफॉर्म पर विकसित किया है. इसे केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के तहत वित्तीय सेवा विभाग के सहयोग से विकसित किया गया है. इस इलेक्ट्रॉनिक वाउचर से निजी क्षेत्र को भी लाभ होगा, क्योंकि वे इन वाउचर्स को अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के एक भाग के रूप में उपयोग कर सकते हैं.

No comments:

Post a Comment