मासिक करेंट अफेयर्स

13 November 2021

पाकिस्तानी नौसेना की बढ़ी ताकत, चीन ने Pakistan को सौंपा अत्याधुनिक 054 युद्धपोत

चीन ने हाल ही में पाकिस्तान को पहला टाइप 054 युद्धपोत सौंपा है. ये युद्धपोत उस समझौते के तहत सौंपा गया है जिसके तहत चीन को पाकिस्तानी नौसेना के लिए चार युद्धपोत बनाने हैं. फिलहाल चीन ने जिस युद्धपोत की आपूर्ति पाकिस्‍तान को की है वो इस समझौते के तहत सौंपा गया पहला युद्धपोत है. 
चीन ने पाकिस्तान को एक विध्वंसक युद्धपोत दिया है. इससे पाकिस्तान की नौसेना की ताकत में बड़ा इजाफा होगा. चीन की स्‍थानीय मीडिया के अनुसार इस युद्धपोत का निर्माण चाइना शिपबिल्डिंग कारपोरेशन लिमिटेड (सीएसएसएल) ने किया है. ग्‍लोबल टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार चीन ने इस युद्धपोत को एक कमीशन सेरेमनी के दौरान पाकिस्तानी नौसेना को सौंपा है.

इस युद्धपोत में अत्‍याधुनिक सरफेस, सब सरफेस और एंटी एयर हथियार लगे हुए हैं. इस युद्धपोत में इलेक्‍ट्रॉनिक वॉरफेयर, एयर और जमीनी निगरानी हेतु उपकरणों और सेंसर को लगाया जाएगा. इसके अतिरिक्त युद्धपोत में अत्‍याधुनिक युद्ध प्रबंधन सिस्‍टम लगा है जिससे पाकिस्‍तानी नौसेना की लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ जाएगी. यह युद्धपोत आसानी से किसी भी रडार को चकमा दे सकता है. इसमें लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलें और और एक मिनट में कई राउंड फायरिंग करने वाला अत्याधुनिक तोप भी लगा हुआ है. यही नहीं इस युद्धपोत के आने के बाद पाकिस्‍तान की समुद्री सुरक्षा और प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी. इस युद्धपोत में अत्याधुनिक युद्ध प्रबंधन सिस्टम लगा हुआ है. इसकी वजह से यह पाकिस्तानी नौसेना की क्षमता को कई गुना बढ़ा देगा और भारत के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है.

चीन और पाकिस्तान के मध्य दोस्‍ती गहराती हुई नजर आ रही है. चीन के बेल्ट ऐंड रोड इनिशिएटिव में चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. दोनों देशों के बीच सैन्य हथियारों को लेकर भी कई डील हुई हैं. इसके अतिरिक्त चीन कई अन्‍य हथियार पाकिस्‍तानी नौसेना को दे रहा है. इसके लिए पाकिस्‍तान ने चीन के साथ सात अरब डॉलर की डील की थी. पाकिस्तान और चीन ने टाइप-054 युद्धपोतों के लिए साल 2017 में डील की थी. इस समझौते के तहत पहला पोत पिछले साल अगस्त में तैयार हुआ था. इसके बाद लगभग एक साल तक इसका समुद्री परीक्षण किया गया है.

No comments:

Post a Comment